अयोध्या: कोरोना पर लगाम लगाने के लिए जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों को पत्र भेजा है। पत्र में उन्होंने कहा है कि ग्रामीण क्षेत्रों में महामारी के संक्रमण को रोकने में प्रधानों की भूमिका अहम है। प्रधान ही ग्राम पंचायत की निगरानी समिति के अध्यक्ष भी हैं। निगरानी समिति में आशा बहू, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, चौकीदार, कोटेदार एवं युवक मंगल दल के सदस्य, प्रधानाध्यापक, सचिव ग्राम पंचायत, बीट आरक्षी आदि हैं, जो प्रधानों के नेतृत्व में निगरानी समिति के कर्तव्यों एवं दायित्वों का निर्वहन करेंगे।

उन्होंने कहाकि समिति प्रतिदिन गांवों में घर-घर भ्रमण करे और लक्षणयुक्त व संक्रमित व्यक्तियों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट कराएं। आशा बहू के माध्यम से कोविड-19 की मेडिसिन किट उपलब्ध कराई जाए। लक्षणयुक्त व्यक्तियों की टेस्टिग कराने का दायित्व भी समिति को उठाना होगा। डीएम ने कहाकि सभी लोगों को मास्क पहनने व शारीरिक दूरी के पालन के प्रति सजग करना होगा, तभी इस महामारी से बचाव किया जा सकता है। इसके साथ ही ग्राम पंचायतों में वृहद स्तर पर साफ-सफाई एवं सैनिटाइजेशन कराया जाय। ग्राम पंचायत में बाहर से आए व्यक्तियों को सूचीबद्ध करने को जरूरी बताया।

कोरोना से बदला मंडी का समय, अब रात में लगेगी अयोध्या: जिलाधिकारी अनुज कुमार झा ने कोरोना से बचाव के लिए दिन में नवीन मंडी लगना बंद करा दिया है। गुरुवार से थोक फल व सब्जी मंडी का समय बदल गया है। यह अब रात आठ बजे से रात 12 बजे तक संचालित होगी। रात 12 बजे से सुबह चार बजे तक फल व सब्जी की निकासी होगी। दिन में फुटकर विक्रेता अपने हाथ ठेला, ई-रिक्शा, ऑटो पिकअप के माध्यम से शहर में घर-घर बिक्री कर सकेंगे। आढ़तियों व डोर स्टेप बिक्री के लिए पास उपलब्ध कराया जाएगा। आढ़ती अपने द्कान के सामने शारीरिक दूरी के लिए गोला बनवाएंगे। हैंड सैनिटाइज व हाथ धोने के लिए दुकान में साबुन की व्यवस्था करेंगे। मंडी के मुख्य गेट से ही प्रवेश व निकास की व्यवस्था रहेगी। कौशलपुरी की तरफ वाला गेट बंद रहेगा। मुख्य गेट पर व्यापारी व किसान की थर्मल स्कैनिग होगी। सभी के लिए मास्क लगाना अनिवार्य होगा। एक स्थान पर ज्यादा लोगों के एकत्रित होने को प्रतिबंधित कर दिया गया है। उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी जिलाधिकारी ने दी है। नवीन मंडी के समय में परिवर्तन अगले आदेश तक प्रभावी रहेगा।