अयोध्या, जागरण संवाददाता। Ayodhya: जिस रामपथ निर्माण को लेकर दो दिन की बंदी के बाद भी व्यापारी आंदोलित लग रहे थे, उस गतिरोध को डीएम नितीश कुमार ने मंगलवार को दूर कर दिया। लता मंगेशकर चौक से तुलसी उद्यान तक करीब डेढ़ सौ मीटर लंबी दोनों पटरी के 100 से अधिक दुकानदारों से जिलाधिकारी ने व्यक्तिगत भेंट की। डीएम नितीश कुमार ने आश्वस्त किया कि पटरी के जिन दुकानदारों की दुकान रामपथ के चौड़ीकरण में ली जा रही है, उनकी क्षतिपूर्ति का नए सिरे से मूल्यांकन किया जाएगा और किसी भी व्यापारी को क्षतिपूर्ति एक लाख रुपए से कम नहीं दी जाएगी।

चौड़ीकरण में भले ही दुकान का कुछ हिस्सा लिया जा रहा हो, किंतु क्षतिपूर्ति पूरे दुकान की दी जाएगी। जिलाधिकारी ने पूर्ण रूप से विस्थापित होने वाले दुकानदारों को सरकार की ओर से निर्मित दुकाने आवंटित करने का आश्वासन भी दिया। नितीश कुमार के रुख से मौके पर मौजूद वे व्यापारी नेता भी संतुष्ट नजर आए , जो गत दो दिनों से रामनगरी को बंद कराने के साथ क्षतिपूर्ति और पुनर्वास की मांग पर आंदोलित थे।

ऐसे नेताओं में अयोध्या व्यापार मंडल ट्रस्ट के अध्यक्ष नंद कुमार गुप्ता नंदू, महामंत्री विजय साहू, अयोध्या उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष पंकज गुप्त शक्ति जायसवाल, प्रेम सागर मिश्र, सुफल चंद्र मौर्य, विनोद श्रीवास्तव, बृज किशोर पांडे आदि रहे। इस मौके पर जिलाधिकारी के साथ एडीएम प्रशासन अमित सिंह एवं तहसीलदार राजकुमार पांडे सहित बड़ी संख्या में राजस्व कर्मी मौजूद रहे।

Edited By: Vikas Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट