मयाबाजार (अयोध्या) : चलती ट्रेन में महिला की गोद से बच्चे को छीनकर झाड़ियों में फेंके जाने की घटना के 30 घंटे बाद भी पुलिस किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है। जीआरपी अकबरपुर व फैजाबाद की टीमों ने सीमा क्षेत्र से कई किलोमीटर तक रेलवे ट्रैक के किनारे झाड़ियों में बच्चे की तलाश की। इस दौरान स्थानीय लोगों ने बच्चे को तलाशने का प्रयास किया, लेकिन उसका कहीं पता नहीं चला। पड़ोसी जिला अंबेडकरनगर के अकबरपुर जीआरपी थाने में पीड़ित मां की तहरीर पर गिरफ्तार आरोपी कमलेश कुमार निवासी सीतामढ़ी प्रांत बिहार के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई है।

बुधवार को शाम फरक्का एक्सप्रेस ट्रेन में मालदा से दिल्ली जा रही महिला उमा बर्मन के साथ यह हादसा हुआ। जिसकी खबर लगते ही जीआरपी सक्रिय हो गई। गोसाईंगंज रेलवे स्टेशन पर यात्रियों ने आरोपी युवक को जीआरपी के हवाले कर दिया था। गुरुवार शाम महिला का पति भी दिल्ली से पहुंच गया। उसे साथ लेकर जीआरपी ने दो टुकड़ियों में सर्च ऑपरेशन चलाया। बच्चे की तलाश में डॉग स्क्वायड की टीम भी लगाई गई, लेकिन कोई सफलता नहीं मिली।

क्षेत्राधिकारी जीआरपी अरुण कुमार सिंह ने सर्च ऑपरेशन की कमान संभाल रखी है। कटहरी से जीआरपी थानाध्यक्ष नितेंद्र शुक्ल और गोसाईंगंज से थानाध्यक्ष सूबेदार यादव ने सघन अभियान चलाया। क्षेत्राधिकारी ने बताया कि यात्रियों की पिटाई से घायल आरोपी की हालत गंभीर है, उसे अंबेडकरनगर जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप