जासं, अयोध्या: समस्याओं का समाधान नहीं होने पर बिजलीकर्मियों ने अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार प्रारंभ कर दिया है। बिजली कर्मियों ने शाम पांच बजे जोन के मुख्य अभियंता कार्यालय से हाइडिल कालोनी तक मशाल जुलूस निकाल कर विरोध किया। विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले आरंभ हुए कार्य बहिष्कार में बड़ी संख्या में कर्मचारी सम्मिलित हुए।

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि शीर्ष प्रबंधन की हठधर्मिता के कारण बिजलीकर्मी संघर्ष के रास्ते पर हैं। संगठन की मांग है कि अभियंताओं और कर्मचारियों की समयबद्ध पदोन्नति की जाए और वेतनमान दिया जाए। अव्यवहारिक लक्ष्यों के निर्धारण पर रोक लगाई जाए। 

समस्त कर्मियों के लिए पुरानी पेंशन लागू हो और बिजली कर्मियों को कैशलेस उपचार की सुविधा मिले। ट्रांसफार्मर वर्कशाप के निजीकरण का आदेश वापस लिया जाए। कार्य बहिष्कार बुधवार को भी होगा। 

पदाधिकारियों ने बताया कि आमजन को परेशानी नहीं हो इसके लिए कार्य बहिष्कार के प्रथम चरण में उत्पादन गृहों, विद्युत उपकेंद्रों, सिस्टम आपरेशन और 33 केवी उपकेंद्रों में पाली में कार्यरत बिजली कर्मियों को बहिष्कार से अवमुक्त रखा गया है। 

इस दौरान यदि किसी भी बिजलीकर्मी पर कोई दमनात्मक कार्रवाई हुई तो इसकी तीखी प्रतिक्रिया होगी। इस अवसर पर सूर्यप्रताप सिंह, सुजीत चौधरी, विनय पटेल, प्रदीप कुमार वर्मा, आदित्य कुमार, रघुवंश मिश्रा, मुनीर आब्दी, मो. इरशाद, अनवरुल हक, रमाशंकर मौर्य, अंकुर यादव, विजय प्रताप, रमन श्रीवास्तव, डीपी सिंह, सुनील मौर्य आदि उपस्थित रहे।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट