मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

अयोध्या : रामनगरी और मां सीता की नगरी जनकपुर से संबंधों की संभावना तलाशने आए नेपाल में भारतीय राजदूत मंजीव ¨सह पुरी बुधवार को अपराह्न रामनगरी पहुंचे। इस दौरान मीडिया से मुखातिब पुरी ने बताया कि इसी वर्ष शुरू अयोध्या-जनकपुर बस सेवा नियमित होगी और इस संबंध में नेपाल सरकार की ओर आवश्यक औपचारिकताएं जल्दी पूरी होंगी। अयोध्या-जनकपुर को रेललाइन से जोड़े जाने की योजना है।

उन्होंने कहा, इसमें कोई शक नहीं कि अयोध्या और जनकपुर का संबंध युगों पुराना है। इस संबंध को नए सिरे से मजबूती देने का काम किया जा रहा है। दोनों नगरों की ओर से सांस्कृतिक आयोजनों के आदान-प्रदान की योजना है। नेपाल में भारत के राजदूत ने यह भी बताया कि भारत-नेपाल संबंध दोनों देशों के लिए अहम है और संबंधों को मजबूती देने का गंभीर प्रयास हो रहा है। अपनी पत्नी के साथ आए पुरी ने रामजन्मभूमि, कनकभवन एवं हनुमानगढ़ी के साथ ऐतिहासिक गुरुद्वारा ब्रह्मकुंड पहुंच आस्था निवेदित की। गुरुद्वारा में मुख्यग्रंथी ज्ञानी गुरुजीत ¨सह ने उन्हें गुरु की प्राचीन खड़ाऊं भेंट की। प्रथम, नवम एवं दशमगुरु के आगमन से गौरवांवित गुरुद्वारा की विरासत और सहेज- संभाल से पुलकित पुरी ने गुरुद्वारा प्रबंधन की मुक्तकंठ से सराहना की।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप