अयोध्या, जागरण संवाददाता: निर्वाचन आयोग की तरफ से बूथों पर चले विशेष मतदाता पुनरीक्षण अभियान का फोकस शहर, हाइवे एवं प्रमुख सड़कों तक ही रहा। ग्रामीण अंचल में तो बीएलओ तो दूर विद्यालयों का ताला तक नहीं खुला। विशेष अभियान में गजब तो तब हुआ जब शहर के एमएलएमएल इंटर कालेज में दोपहर के लगभग एक बजे मंडलायुक्त नवदीप रिणवा पहुंचे। 

मंडलायुक्त के जाने के बाद सभी बीएलओ घर चली गईं। सायं चार बजे के बाद जब उसी विद्यालय में जिलाधिकारी नितीश कुमार के निरीक्षण के लिए सभी व्यवस्था करने के निर्देश दिए गए तो पता चला कि एक भी बीएलओ नहीं हैं। सभी को तत्काल बूथों पर पहुंचने को कहा गया। 

घर पहुंचीं बीएलओ को उल्टे पांव बूथों पर आना पड़ा। ये सभी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता रहीं। उनका कहना है कि वे चाय पीने के लिए गईं थीं। थोड़ी देर में फिर आ गईं थीं। जिलाधिकारी ने भी निरीक्षण किया। 

मंडलायुक्त ने छावनी परिषद के प्राइमरी एवं जूनियर जूनियर हाईस्कूल के अलावा एमएलएमएल इंटर कालेज के पांच- पांच मतदेय स्थल, राजकीय बालिका इंटर कालेज के चार मतदेय स्थल, कार्यालय बेसिक शिक्षा निदेशक के कुल तीन मतदेय स्थल तथा प्राथमिक विद्यालय हसनूं कटरा के छह मतदेय स्थलों का निरीक्षण किया। 

उप जिला निर्वाचन अधिकारी अमित सिंह, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट विशाल कुमार निरीक्षण में साथ रहे। हाइवे के सआदतगंज, मुमतातनगर, एआइटी जगनपुर समेत लगभग सभी विद्यालयों में बीएलओ बूथों पर लोगों का इंतजार करते मिले, बहुत कम लोग नाम बढ़ाने एवं संशोधन के लिए आए। 

सोहावल ब्लाक के मुबारकगंज, कलाफरपुर, हरिबंधनपुर आदि बूथों पर बीएलओ कब आए कब चले गए, कोई बताने वाला नहीं रहा। पूराबाजार की ग्रामपंचायत देवगढ़ के मतदान केंद्र पर ताला लटका मिला। देवगढ़ मतदान केंद्र की बीएलओ रंजीता वर्मा एवं लीलावती प्रजापति बिना सूचना के नदारद मिलीं। 

मोबाइल पर बताया कि उन्हें सुपरवाइजर ने विशेष अभियान की सूचना नहीं दी। ग्राम पंचायत दुगवां के मतदान केंद्र पर तैनात बीएलओ यदुनाथ पांडेय ने बताया कि कोई भी नहीं आया। रोशननगर के दोनों बूथों में बीएलओ उपस्थित मिले।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट