अयोध्या : गत दिनों बंगलुरु में आयोजित पांचवें नेशनल लेवर टेक्नो एग्जीबिशन साइंस में अवध विश्वविद्यालय का सिक्का रहा। देशभर के प्रतिभागियों के बीच यहां के छात्र-छात्राओं ने न सिर्फ पहला स्थान झटका, बल्कि एक लाख रुपये का पुरस्कार भी हासिल किया। इसमें देश के अलग-अलग इंजीनियरिग कॉलेज के 240 प्रोजेक्ट प्रदर्शित हुए। इसी में अविवि इंजीनियरिग कॉलेज के छात्र वकात खान, हिया, अमन की ओर से निर्मित स्मार्ट मिलिट्री कैंप मॉडल को पहला स्थान मिला। इस उपलब्धि पर इंजीनियरिग कॉलेज में खुशी की लहर है। कुलपति प्रो. मनोज दीक्षित ने छात्र-छात्राओं एवं शिक्षकों को बधाई दी और भविष्य में और भी उपलब्धि हासिल करने को प्रेरित किया।

आयोजन में यहां के 48 छात्र-छात्राएं तथा 12 शिक्षकों के दल ने प्रतिभाग किया। शिक्षकों की टीम में अमितेश पंडित, दीपक कोरी, महेश चौरसिया, आस्था सिंह, ज्योति यादव व नूपुर यादव रहे। स्टूडेंट एक्टिविटी क्लब की कोऑर्डिनेटर समृद्धि सिंह ने बताया कि इस सफलता की नींव गत 28 फरवरी को कुलपति के निर्देशन में संस्थान में संपन्न नेशनल साइंस-डे से हुई। इसमें छात्र-छात्राओं ने विभिन्न साइंस बेस्ड प्रोजेक्ट प्रस्तुत किए। इस आयोजन से जुड़े पारितोष त्रिपाठी ने बताया कि कुल आठ प्रोजेक्ट क्रमश: मेडिसिन डिस्पेंसर फॉर एल्डर पीपुल, स्मार्ट मिलिट्री कैंप, ड्रिप इरीगेशन, रोटेटिग व्हीकल्स, पावर जनरेशन बाई वाट, रोबो क्लीनर, ब्लाइंड असिस्टेंट, प्रेडिक्शन बेस्ड इरीगेशन प्रस्तुत हुए। उन्होंने बताया कि बीबोस यूनिवर्सिटी फरीदाबाद में आयोजित स्टार्ट अप आइडिया बेस्ड प्रतियोगिता में 22 अप्रैल को एक टीम जाएगी। इस सफलता पर प्रतिकुलपति प्रो. एसएन शुक्ल, कार्यपरिषद के सदस्य ओमप्रकाश सिंह, डॉ. वंदिता पांडेय, डॉ. प्रियंका श्रीवास्तव, डॉ. महिमा, विनीत सिंह, डॉ. मनीष सिंह, डॉ. बृजेश भारद्वाज, रमेश मिश्र, परिमल त्रिपाठी, आरके सिंह ने अन्य प्रतिभागियों को बधाई दी।

Posted By: Jagran