फैजाबाद : प्रदेश सरकार के नुमाइंदे भले ही परिषदीय विद्यालयों की सूरत व सीरत बदलने का दावा करते हो, लेकिन नगर निगम परिक्षेत्र में 29 विद्यालय बिना स्थायी शिक्षक के ही संचालित हो रहे हैं। शिक्षक विहीन विद्यालयों का संचालन कैसे होता होगा? इसको लेकर विभाग के अधिकारी भी कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। यदि आंकड़े पर यकीन करें तो अयोध्या व फैजाबाद के विद्यालय सिर्फ कागजों पर ही संचालित हो रहे हैं। दरअसल नगर परिक्षेत्र में विद्यालयों की तादाद के बराबर भी शिक्षकों की संख्या नहीं हैं। यहां तक कि एक-एक विद्यालय पर एक-एक शिक्षकों की तैनाती नहीं हो सकी है।

विभागीय आंकड़े के अनुसार नगर क्षेत्र में कुल 56 विद्यालय हैं, जिसमें से 27 विद्यालय ऐसे हैं, जहां औसतन एक-एक शिक्षकों की तैनाती है। 29 विद्यालय शिक्षकविहीन हैं। 56 विद्यालयों में कुल 29 स्थाई टीचर ही तैनात हैं। कई विद्यालय में एक भी शिक्षक ही नहीं हैं। कई विद्यालायों के नियमित खुलने पर भी संशय है। क्षेत्र के विद्यालयों में स्थायी शिक्षकों के साथ ही विभाग ने 31 शिक्षामित्रों की तैनात होने की बात कहता है।

----------------इनसेट----------

क्या-क्या करें गुरुजीफैजाबाद : नगर क्षेत्र के विद्यालयों में तैनात शिक्षकों की अपनी ही समस्या है। प्राथमिक विद्यालय के साथ ही पूर्व माध्मयिक विद्यालयों में छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। एक शिक्षक ने बताया कि सुबह स्कूल खोलने से लेकर पठन-पाठन तक करना होता है। वह बताते हैं कि विभागीय सूचना भी बनाना होता है। ऐसे में एक शिक्षक किन-किन कार्यों को कैसे करें कोई अधिकारी बताए?

--------------------

बोले नगर शिक्षाधिकारी

-नगर शिक्षाधिकारी संजय कुमार ने बताया कि शिक्षाकों की समस्या है। स्थाई शिक्षकों के साथ ही 31 शिक्षामित्रों की सहायता से अध्ययन-अध्यापन का कार्य कराया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राज्यपाल के विशेष अनुमति से नगर क्षेत्र में शिक्षकों की तैनात की जा सकती है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस