अयोध्या: ऋणमाफी का दबाव कृषि विभाग पर बढ़ता जा रहा है। किसानों की भीड़ देख बाबुओं को छोड़िए, जिला कृषि अधिकारी तक को पसीना छूटने लगा है। 21 जनवरी तक ऋणमाफी से वंचित किसानों को प्रोफार्मा जिला कृषि अधिकारी ऑफिस में जमा करना होगा। अभी साढ़े 17 हजार किसानों को ऋणमाफी का लाभ मिलना है। प्रतिदिन सैकड़ों की तादाद में किसान ऑफिस आने लगे हैं। मेला सरीखा नजारा देखा जा सकता है। सोहावल तहसील के गोड़वा निवासी शशिकांत तिवारी ने बताया कि एनपीए होने के बावजूद ऋणमाफी का लाभ नहीं मिला। बढ़ते दबाव को देख बाबू तौबा करने लगे हैं। प्रदेश सरकार के एजेंडे में ऋणमाफी शामिल होने से आवेदनपत्र जमा करने में कोई हीलाहवाली किसानों से नहीं की जा रही है। किसी कारण छूटे किसानों को करीब 150 करोड़ रुपये की कर्जमाफी का लाभ मिलना है। कृषि विभाग की मुश्किल यह कि उसके पास कर्मचारियों का पहले से टोटा है। जिला कृषि अधिकारी बीके ¨सह के अनुसार छूटे किसानों को ऋणमाफी लाभ दिलाने के लिए आवेदनपत्र जमा कराने के लिए व्यवस्था बनाई गई है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप