जागरण संवाददाता, इटावा : विकास खंड ताखा के ग्राम पंचायत पटियायत के युवाओं ने सरकारी विद्यालय के कायाकल्प के लिए विशेष रुचि दिखाई है। गांव के उपेंद्र कुमार तोमर एवं बेसिक शिक्षा विभाग के स्टेट रिसोर्स ग्रुप के सदस्य राम जनम सिंह ने पटियायत के विद्यालय को विकास खंड का मॉडल बनाने का निर्णय लिया है। इसके लिए ग्रामीणों के साथ चर्चा भी की गई। गांव के विद्यालय में पढ़ने वाले अभिभावकों ने विद्यालय से संबंधित मुद्दों पर चर्चा की एवं अपने सुझाव साझा किए। बच्चों के बहुमुखी विकास के लिए स्टेट रिसोर्स पर्सन राम जनम सिंह ने अभिभावकों एवं विद्यालय स्टाफ के समक्ष विद्यालय के भौतिक एवं अकादमिक विकास के लिए एक योजना रखी जिसमें पुस्तकालय, खेलकूद के मैदान एवं उपकरणों का सही उपयोग, स्मार्ट क्लास तथा प्रयोगशाला के बेहतर उपयोग पर चर्चा की। उन्होंने वर्तमान समय में चल रही ई-पाठशाला एवं दीक्षा एप पर चर्चा की तथा प्रधानाध्यापक को ग्रामीण युवाओं को प्रेरणा साथी बनाने का अनुरोध किया, जिससे वे ग्रामीण शिक्षा व्यवस्था को बेहतर बना सकें। उन्होंने कहा कि नि:शुल्क एवं गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का मुद्दा एक जनांदोलन बने। उपेंद्र तोमर जो आइआइटी दिल्ली के विद्यार्थी रहे हैं उन्होंने विद्यालय के पुस्तकालय हेतु विभिन्न स्वयंसेवी संस्थाओं द्वारा स्वैच्छिक पुस्तक दान से पुस्तकें देने तथा विद्यालय में वर्षा जल संचयन को आइआइटी दिल्ली द्वारा अपनाई गई तकनीक के आधार पर करवाने का आश्वासन दिया।

गांव के चौकीदार अनवार खां ने शाम तीन बजे से सात बजे तक विद्यालय की स्वैच्छिक चौकीदारी करने का भरोसा दिलाया। जिससे विद्यालय प्रांगण में लगे पौधों को कोई विद्यालय बंद होने के बाद नुकसान न पहुंचा सके। युवाओं ने आश्वस्त किया कि वे टोली बनाकर नरेंद्र सिंह तोमर के नेतृत्व में ग्रामीणों को विद्यालय विकास के लिए जागरूक करेंगे साथ ही युवाओं ने यह भी भरोसा दिलाया कि वे विद्यालय के हर कार्य में स्वेच्छा से मदद करेंगे। अकादमिक रिसोर्स पर्सन अनिल दुबे ने कहा कि वे विद्यालय को एक मॉडल विद्यालय बनाने के लिए अपनी टीम के साथ प्रयास करेंगे। खंड शिक्षा अधिकारी ताखा उपेंद्र भारती ने विद्यालय को संपूर्ण प्रशासनिक सहयोग देने की बात कही। इस अवसर पर बढ़पुरा विकास खंड के अकादमिक रिसोर्स पर्सन सुनील चतुर्वेदी ने कहा कि वे बढ़पुरा विकास खंड में स्टेट रिसोर्स पर्सन के साथ मिलकर ग्रामीण युवाओं को इसी तरह विद्यालय विकास की योजना से जोड़ेंगे। सभी उपस्थित व्यक्तियों ने विद्यालय विकास हेतु एक व्यापक ²ष्टिकोण के साथ कार्य करने की बात कही। परिचर्चा में सरमन सिंह, मुन्ना पंडित, राम सेवक, सुखवीर, अवनीश, अमित, रवि, अतुल आदि मौजूद रहे।

Edited By: Jagran