जागरण संवाददाता, इटावा : बीते 24 घंटों से कभी तेज तो कभी धीमी रफ्तार से बारिश का सिलसिला जारी है। समूचे जनपद में औसतन 22.33 मिमी बारिश रिकार्ड की गई है। जनपद की आधा दर्जन तहसीलों में सबसे ज्यादा सदर तहसील क्षेत्र में 41 मिमी बारिश हुई। अधिकतम तापमान में गिरावट हुई इससे सुबह न्यूनतम 26 तो दोपहर में अधिकतम 29 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। लगातार बारिश से जहां लोगों को गर्मी से राहत मिली वहीं निचले क्षेत्र में जलभराव होने से जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया, कई जगह हालात काफी बदतर नजर आए। ग्वालियर-बरेली हाईवे सहित कई मार्ग बारिश से क्षतिग्रस्त हो गए हैं जिससे आवागमन प्रभावित हो गया है।

बीते मंगलवार की सुबह साढ़े आठ से बुधवार साढ़े बजे के मध्य समूचे जनपद में बारिश होने से किसानों के लिए खुशहाली हो गई तो निचले क्षेत्र के बाशिदों के लिए बारिश मुसीबत का सबब बन गई। बुधवार को सारा दिन कभी तेज तो कभी धीमी बारिश का सिलसिला जारी रहा। आसमान में छाए बादल तथा हवा थमने से बारिश का सिलसिला अभी जारी रहने के संकेत दे रहे हैं। कलेक्ट्रेट में मौसम का आंकलन कर रहे वरिष्ठ बाबू महेश चद्र तिवारी ने बताया कि तहसील सदर में 41, जसवंतनगर में 34, भरथना में 32, सैफई में 15 तो चकरनगर तथा ताखा तहसील क्षेत्र में छह-छह मिमी बारिश दर्ज की गई। जिससे समूचे जनपद में 22.33 मिमी औसतन बारिश हुई।

कृषि मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि आसमान में जिस अंदाज में बादल छाए हुए हैं तथा हवा का दबाव कम होने से आगामी 31 जुलाई तक इसी तरह की बारिश का सिलसिला जारी रहेगा। यह बारिश खरीफ की फसल के लिए काफी उपयोगी साबित होगी। ऐसे मौसम में बिजली गिरने की आशंका बनी रहती है। बारिश के दौरान आवागमन करने वाले मोबाइल फोन ऑफ रखें तथा बिजली या अन्य किसी भी तरह के पोल, तारों की लाइन तथा सिगल पेड़ के नीचे खड़े न हो। बारिश के दौरान ज्यादातर घर पर ही रहें, विवशता के तहत आवागमन करने वाले सजगता बरतें।

शहर में कई जगह हुए बदतर हालात

शहर में बारिश के दौरान मैनपुरी रेलवे क्रासिग अंडर ब्रिज तथा बरेली हाईवे पर आगरा-कानपुर सिक्सलेन ओवरब्रिज तो बदतर हालात के पर्याय बने हुए हैं। नगरपालिका द्वारा नालों की सही ढंग से सफाई न कराए जाने से नवीन कृषि मंडी परिसर से लेकर हाईवे तक, विकास भवन, कचहरी परिसर, जिला अस्पताल परिसर, विजय नगर चौराहा के आसपास सहित कई मोहल्लों में जलभराव से हालात बदतर नजर आए।

Edited By: Jagran