संवाद सहयोगी, भरथना : थाना क्षेत्र के ग्राम नगला चंदेलन में शुक्रवार की दोपहर अचानक लगी आग से पांच घर जलकर नष्ट हो गये। आग बुझाने की कोशिश में दो बहनों सहित चार लोग झुलस गये। आग की सूचना पर पहुंचे थाना प्रभारी नई दमकल की टीम ने ग्रामीणों की मदद से आग पर काबू पाया। नगला चंदेलन निवासी मोहन लाल पुत्र मदन लाल के झोपड़ी नुमा घर में अचानक आग लग गई। आग ने कुछ ही पल में उनकें दोनों पुत्र हरिशंकर और अनिल के साथ-साथ जयचंद, इंद्रपाल पुत्रगण मान सिंह, इंद्रेश पुत्र रामऔतार, दुलारे पुत्र भदई लाल व अखिलेश पुत्र दुलारे के झोपड़ीनुमा घरों को अपनी चपेट में ले लिया। तेज हवा होने के कारण आग ने कुछ ही पल में विकराल रूप धारण कर लिया। हरीशंकर के घर में रखा गैस सिलेंडर आग की चपेट में आने से आग दहकी। धीरे-धीरे आग गांव के अन्य घरों की तरफ बढ़ने लगी। इससे पूर्व ग्रामीणों ने दमकल व पुलिस को कॉल कर सूचना दी। दमकल के समय से न पहुंचने तक थाना पुलिस ने ग्रामीणों के साथ खेतों में लगे ट्यूबवेलों, सबसर्मिबल व हैंडपंपों के माध्यम से आग बुझाने की कोशिश की। कुछ ही समय के बाद दमकल के दो फायर टैंकर मौके पर आ गये और गांव में फैल रही आग पर काबू पाया। ग्राम प्रधान प्रतिनिधि गोपाल तिवारी ने बताया कि शुक्रवार पांचों घरों में गृहस्थी का सारा सामान जलकर नष्ट हो गया। आग की सूचना पर मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी महेंद्र प्रताप सिंह, क्षेत्रीय लेखपाल सुखराम सिह ने आग से हुए नुकसान का जायजा लिया। आग से अपने पशु व सामान बचाने की कोशिश में दो सगी बहनें रेशमा और अंजली तथा हरीशंकर और अनिल झुलस गये। ग्रामीणों की एकजुटता से बड़ा हादसा टल गया। प्रत्यक्षदर्शियों की मानें तो जिस समय गांव में आग लगी तो उसे बुझाने के लिए आसपास के कई लोग नगला चंदेलन की ओर दौड़ पड़े और जिसको जैसा साधन मिला वह दमकल के मौके पर आने तक आग को बुझाने में जुटा रहा। जेवरात के साथ 50 हजार की रकम जली

अग्निपीड़ित मोहनलाल ने बताया कि आग से उनके घर में रखा उनकी दोनों बहुओं का एक लाख रुपये कीमत का जेवरात व पचास हजार रुपये नगद सहित गृहस्थी का सारा सामान जलकर नष्ट हो गया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस