संवाद सूत्र, बकेवर (इटावा) : इंटरनेट मीडिया पर वायरल आडियो में डिप्टी सीएमओ ने भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष पर फर्जी पैथोलोजी संचालित करने का आरोप लगाया है। वहीं, पूर्व जिलाध्यक्ष ने डिप्टी सीएमओ के आरोप को सिरे से खारिज कर कहा कि आरोप सही मिले तो राजनीति छोड़ देंगे। हालांकि दैनिक जागरण वायरल आडियो की पुष्टि नहीं करता है।

हाल में स्वास्थ्य विभाग के संविदाकर्मी द्वारा लखना, बकेवर व भरथना में एक ही नाम से फर्जी पैथोलाजी संचालित करने की खबर इंटरनेट मीडिया पर वायरल हुई थी। बताया गया था कि उक्त पैथोलाजी स्वास्थ्य विभाग में पंजीकृत नहीं है। इसी से जुड़ा एक आडियो भी वायरल हुआ, जिसमें डिप्टी सीएमओ महेश चंद्रा बता रहे हैं कि इन फर्जी पैथोलाजी के संचालन में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष का हाथ है। इस वजह से मुख्य चिकित्साधिकारी इन पैथोलाजी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई करने से बचते हैं। आडियो से स्वास्थ्य विभाग के साथ ही पार्टी नेताओं में खलबली मच गई। डिप्टी सीएमओ ने दैनिक जागरण को बताया कि दो वर्ष पूर्व लखना में संचालित पैथोलाजी को सील करते वक्त खुद को भाजपा नेता बताने वाले एक व्यक्ति का फोन आया था। तब उन्होंने कार्रवाई रोक दी थी। इस संबंध में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष ने बताया कि डिप्टी सीएमओ का आरोप निराधार है। जिन पैथोलाजी में उनकी हिस्सेदारी बताई जा रही है, उसकी प्रशासन जांच करा ले। कहीं भी भागीदारी सामने आती है तो राजनीति से संन्यास ले लेंगे। सीएमओ डा. भगवान दास ने बताया कि प्रभारी मंत्री के दौरे के कारण दिन भर व्यस्त रहे। डिप्टी सीएमओ से पूरे मामले की जानकारी कर जांच कराएंगे। उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran