जागरण संवाददाता, इटावा : मंगलवार को इलाहाबाद हाईकोर्ट से कोर्ट मैरिज करके लौट रहे युगल को हथियारों के दम पर अगवा किए जाने के मामले में एसएसपी अशोक कुमार त्रिपाठी के कड़े रुख के बाद थाना फ्रेंड्स कालोनी पुलिस हरकत में आई और युवक के भाई गौरव यादव की तहरीर पर 14 लोगों के खिलाफ अपहरण का मामला दर्ज कर लिया गया। मामले में 11 लोग लड़की के परिजन भी हैं। पुलिस ने लड़की को बरामद कर लिया है और एक बोलेरो कार भी बरामद की गई है।

मंगलवार की रात को शहर के थाना फ्रेंड्स कालोनी क्षेत्र से किशनी के नगला बनी गांव के रहने वाले युगल के अपहरण होने की घटना से हड़कंप मच गया था। तीन थानों की पुलिस रात भर उनकी तलाश करती रही थी। पुलिस को बताया गया कि अनुराग व अलका इलाहाबाद हाईकोर्ट से शादी करके वापस लौट रहे थे। तभी लड़की के पिता रामगोपाल यादव पुत्र हाकिम ¨सह, संतोष यादव, बृजेश यादव, सहित कई लोगों ने उन्हें एक गाड़ी से अगवा कर लिया था। बाद में अनुराग को किशनी जनपद मैनपुरी में छोड़ दिया गया था जबकि अलका के परिजन उसे अपने घर ले गए थे। बुधवार की रात को इटावा पुलिस ने भारी पुलिस बल के साथ अलका के गांव में छापा मारा और उसे बरामद कर लिया। इंस्पेक्टर फ्रेंड्स कालोनी अनिल कुमार ने बताया कि मामले में 14 लोगों के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज किया गया है। जिनमें 11 लोग लड़की के परिजन हैं। एक आशु प्रधान नगला पंक्षी थाना इकदिल जबकि एक व्यक्ति थाना चौबिया व एक थाना एलाऊ जनपद मैनपुरी का है। दो आरोपियों संतोष व गुड्डू को गिरफ्तार कर लिया गया है। शेष आरोपियों की तलाश की जा रही है।

Posted By: Jagran