जागरण संवाददाता, इटावा : धान-बाजरा की क्रॉप कटिग के दौरान ग्रामों में पहुंचे एडीएम जीपी श्रीवास्तव ने किसानों को पराली न जलाने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि ऐसा करने पर दंडात्मक कार्रवाई होगी। सेटेलाइट के माध्यम से पराली जलाने वाले चिह्नित किए जा रहे हैं इसलिए कोई बच नहीं सकता है।

अपर जिलाधिकारी ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव भारत सरकार के निर्देशानुसार धान की क्रॉप कटिग कराने को तहसील भरथना क्षेत्र के गांव कुसना पहुंचे वहां किसान आशाराम के खेत में पक चुकी धान की एक डेसीमल क्षेत्र में क्रॉप कटिग कराई जिसमें 28 किलो 800 ग्राम वजन पाया इससे एक हेक्टेयर भूमि में 7113.60 किलोग्राम धान का उत्पादन माना गया। इसी प्रकार तहसील जसवंतनगर के ग्राम धरवार में बाजरा की क्राप कटिग कराई वहा प्रति हेक्टेयर 5866.25 किलोग्राम उत्पादन माना गया। दोनों स्थानों पर एकत्रित हुए किसानों को पराली ही नहीं अपितु किसी भी प्रकार कूड़ा आदि खेतों में न जलाने के लिए जागरूक किया। प्रधान कुसना सुरेश सिंह, डीलर तथा राजस्व निरीक्षक वीरेंद्र सिंह प्रजापति, रूबी यादव, चंदन बाबू सविता तथा बीमा कंपनी के प्रतिनिधि विशाल गुप्ता आदि मौजूद थे।

संवाद सूत्र, महेवा के अनुसार : पराली को लेकर एडीओ राजेश चौबे के नेतृत्व में सहायक विकास अधिकारी फसल सुरक्षा राकेश यादव, राजकीय बीज भंडार प्रभारी बृजेंद्र बाबू, सत्यपाल सिंह, हरियोगेंद्र ने गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक किया और पराली जलाने पर जुर्माना लगाए जाने की चेतावनी दी।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस