जागरण संवाददाता, इटावा : बांदा से आगरा जा रहे ट्रक में फाइनेंसर बन सवार हुए बदमाशों ने चालक की हत्या कर ट्रक को लूट लिया। क्लीनर को सड़क किनारे बंधक बनाकर फेंक दिया। ट्रक में पाच लाख रुपये कीमत का गेहूं भरा था। घटना औरैया और इटावा के बीच हुई जबकि बदमाशों ने शव और क्लीनर को करहल में फेंका। मैनपुरी पुलिस ने राजफाश के लिए दो टीमें बनाई हैं लेकिन घटना के दो दिन बाद भी कोई सुराग हाथ नहीं लगा है।

फीरोजाबाद के थाना सिरसागंज स्थित गाव सरैया निवासी चालक सुखवीर सिंह और क्लीनर अजब सिंह शुक्त्रवार शाम ट्रक में पाच लाख रुपये कीमत का गेहूं लादकर बादा से आगरा के लिए रवाना हुए। क्लीनर अजब सिंह के अनुसार रात करीब 10:30 बजे औरैया के अजीतमल में ईको कार सवार पाच लोगों ने ट्रक को रुकवा लिया। फाइनेंसर बताते हुए ट्रक कब्जे में लेने की बात कही। चार लोग ट्रक में सवार हो गए और कहा कि माल उतरने के बाद ट्रक कब्जे में लिया जाएगा।

क्लीनर के अनुसार थोड़ी दूर चलने के बाद चारों ने चालक और क्लीनर की पिटाई शुरू कर दी। एक बदमाश ने ट्रक की स्टेयरिंग संभाल ली। सिर में सरिया लगने से चालक अचेत हो गया। इस दौरान बदमाशों ने गर्दन पर फंदा कस दिया और सैफई बाइपास मार्ग पर खुटारा के पास शव को झाड़ियों में फेंक दिया। क्लीनर को हाथ-पाव बाधकर थोड़ी दूरी एक खेत में डाल दिया। सुबह करीब चार बजे क्लीनर ने पाव खोल लिए। सड़क पर आकर राहगीरों से हाथ खुलवाए। एक राहगीर का फोन मागकर ट्रक मालिक को घटना की जानकारी दी। उसके बाद पुलिस को सूचना दी। आइजी ए सतीश गणेश ने घटनास्थल पर पहुंचकर जाच की। उन्होंने पुलिस अधीक्षक को जल्द राजफाश करने का निर्देश दिया। मैनपुरी के पुलिस अधीक्षक अजय शकर राय ने बताया कि राजफाश करने के लिए करहल पुलिस के अलावा स्वाट को लगाया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप