जागरण संवाददाता, इटावा : इस समय जिले को वायरल बुखार से निजात नहीं मिल रही है। हालत यह है कि 200 बेड के अस्पताल में 190 मरीज भर्ती हो चुके हैं। जगह के अभाव को लेकर 100 शैया महिला विग को लेने की पहल सीएमएस द्वारा सीएमओ से की जा रही है। डा.बीआर आंबेडकर जिला अस्पताल के मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमएम आर्या ने बताया कि इस समय वायरल के प्रकोप से सभी चिकित्सा कर्मचारी हलकान है लेकिन खुशी की बात यह है कि जिला अभी डेंगू से बचा हुआ है।

मंगलवार को भी जिला अस्पताल के मुख्य रजिस्ट्रेशन काउंटर से 1246 मरीजों ने पर्चा प्राप्त किया। वहीं इमरजेंसी वार्ड से 180 मरीजों ने पर्चे बनवाए। इस तरह कुल 1426 मरीजों से रजिस्ट्रेशन कराया तथा 38 मरीज जांच कराने पहुंचे जिनमें 13 मरीजों की जांच संदिग्ध पाई गई जिनको जांच के लिए उत्तर प्रदेश आयुर्विज्ञान विश्व विद्यालय सैफई भेजा जा रहा है। पुराने पर्चे पर उपचार लेने वाले मरीजों की खासी संख्या है। 100 शैया में हो सकते हैं बुखार के मरीज भर्ती : हर रोज वायरल बुखार के मरीजों की बढ़ रही संख्या को लेकर अस्पताल प्रशासन हैरत में है। सीएमएस ने सीएमओ से कहा है कि वह बुखार के मरीजों को 100 शैया में शिफ्ट कराने की अनुमति दे तो बुखार के मरीजों को विग में स्थानांतरित किया जा सकता है। मरीजों का मार्ग दर्शन कर रही हेल्पडेस्क जिला अस्पताल के रूम नं. 25 में बुखार के मरीजों व उनके तीमारदारों की सुविधा को लेकर बुखार हेल्पडेस्क चालू की है। प्रभारी मो. सगीर अहमद ने बताया कि पर्चा बनवाने के बाद आने वाले हर मरीज को बुखार के बारे में सही जानकारी दी जा रही है। जिला अस्पताल के तीसरे फ्लोर पर आपदा कक्ष में 35 बेड के जो डेंगू वार्ड बनाए गए हैं इस समय उनमें 32 मरीज भर्ती हैं। जिसमें डेंगू का कोई नहीं है। 200 बेड के अस्पताल में 190 मरीज भर्ती हो चुके हैं। डा. एमएम आर्या, सीएमएस

Edited By: Jagran