हेम कुमार शर्मा, इटावा: इटावा-मैनपुरी रेलवे ट्रेक पर जुलाई तक रेलवे द्वारा ट्रेने दौड़ाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए इस ट्रेक पर आ रही सारी अड़चनों को रेलवे के अधिकारी दूर करने में जुटे हुए हैं। मुख्य संरक्षा आयुक्त ने इस ट्रेक की 40 क्रा¨सगों को लेकर यात्री ट्रेन परिचालन के लिए इस ट्रैक को सही नहीं माना है। मुख्य संरक्षा आयुक्त के निरीक्षण से पूर्व 25 मानव रहित तथा 6 गेट वाली क्रा¨सग तैयार करके रेलवे अधिकारियों द्वारा यात्री ट्रेनों के परिचालन को ट्रैक ओके करने की कवायद तेजी से की जा रही है।

इटावा-मैनपुरी रेल परियोजना सपा प्रमुख मुलायम ¨सह यादव के ड्रीम प्रोजेक्ट योजनाओं में प्रमुख है। हकीकत में वे 1989 में पहली बार मुख्यमंत्री बनने के पश्चात इस परियोजना का शुभारंभ कराना चाहते थे, उनकी लगातार कोशिश जारी रही इसके तहत 2004 में तत्कालीन राष्ट्रपति डा. एपीजे अब्दुल कलाम ने सैफई आकर इस परियोजना की आधारशिला रखी थी। सपा प्रमुख कभी सोनिया गांधी तो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रिश्ते अच्छे न होने से इसका निर्माण कार्य प्रभावित होता रहा।

बीती साल मोदी सरकार से रिश्ते अच्छे हुए तो निर्माण कार्य तेजी से शुरू हुआ। रेलवे निर्माण कार्य से जुड़े इंजीनियरों ने कड़ी कवायद करके बीते माह मार्च में मालगाड़ी दौड़ाकर ट्रैक ओके कर दिया। रेलवे इंजीनियरों ने यात्री ट्रेनों का परिचालन शुरू कराने के लिए मुख्य संरक्षा आयुक्त को रिपोर्ट प्रेषित की। उन्होंने 56 किमी की दूरी के इस ट्रैक में 45 क्रा¨सग देखकर कड़ी आपत्ति प्रकट की तो रेलवे प्रशासन ने उक्त क्रा¨सगों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम कराने की कवायद शुरू करा दिए। इसके तहत क्रा¨सग निर्माण, सिग्नल व्यवस्था व अन्य खामियां तेजी से दूर की जा रही हैं। विभागीय सूत्रों के मुताबिक सभी कार्य अंतिम चरण में जल्द ही सीआरएस का निरीक्षण कराकर यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू करा दिया जायेगा।

जल्द चलेगी यात्री ट्रेन

इटावा-मैनपुरी रेलवे ट्रैक पर क्रा¨सगों को लेकर मुख्य संरक्षा आयुक्त ने जो आपत्तियां प्रकट की थी उनको शीघ्रता से दूर कराया जा रहा है। ट्रैक ओके होने पर जल्द ही यात्री ट्रेन चलेगी इसके लिए रेलवे प्रशासन प्रयासरत है।-विजय कुमार जन संपर्क अधिकारी उत्तर मध्य रेलवे इलाहाबाद