एटा: शीतलपुर ब्लाक क्षेत्र के गांव असरौली और कसैटी में बुखार और इनसे हो रही मौत का सिलसिला नहीं थम रहा। अब कसैटी में एक बुखार पीड़ित महिला की मौत हुई है। इसे डेंगू बताया जा रहा है। इसे मिलाकर गांव में अब तक 14 लोगों की मौत हो चुकी है।

गांव की रहने वाली जयदेवी (60) पत्नी रामबाबू को करीब 10 दिन पहले बुखार आया था। ग्राम प्रधान शेर सिंह ने बताया कि स्वजन इलाज के लिए शहर के एक निजी चिकित्सक के यहां ले गए। जहां से किसी निजी पैथोलाजी के जरिए उसकी विभिन्न जांचें कराई गईं। उसे डेंगू बताया गया। इसके बाद से निजी नर्सिंग होम में भर्ती कर महिला का लगातार इलाज किया गया, लेकिन हालत में सुधार नहीं हुआ। सोमवार को हालत अधिक बिगड़ गई और दोपहर के समय उसकी मौत हो गई। स्वजन अंतिम संस्कार के लिए शव को गांव ले आए। इससे पहले महीने भर के अंदर गांव में 13 अन्य लोगों की मौत हो चुकी हैं। उन्हें भी बुखार पीड़ित बताया गया है। इसे लेकर गांव में चिता और भय की स्थिति बनी हुई है। इसके निकटवर्ती गांव असरौली में भी हालात अच्छे नहीं हैं। यहां पांच लोगों की मौत हो चुकी है। बागवाला सीएचसी प्रभारी डा. मनोज कुमार ने बताया कि टीम को भेजकर मंगलवार को मृत महिला की बीमारी की स्थिति पता कराएंगे। दो लोग निकले डेंगू संक्रमित:

सोमवार को कसैटी में लगाए गए स्वास्थ्य शिविर में 65 लोगों का परीक्षण किया गया।जांच में दो लोगों में डेंगू एनएस-1 की पुष्टि हुई। वहीं गांव असरौली में 75 लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। कोई भी व्यक्ति डेंगू या मलेरिया संक्रमित नहीं पाया गया। कोरोना संक्रमण की चपेट में आए तीन लोग: जिले के तीन और लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आए हैं। पिलुआ निवासी 30 वर्षीय महिला, शहर के कचहरी रोड निवासी 28 वर्षीय युवक और मारहरा विकासखंड क्षेत्र के गांव करुआमई निवासी 26 वर्षीय युवक जांच में संक्रमित पाए गए हैं। इनमें से पिलुआ की महिला का उपचार नोएडा के एक निजी अस्पताल में कराया जा रहा है। जबकि अन्य दोनों संक्रमित युवकों को सामान्य हालत में होम आइसोलेट किया गया है। उधर, बागवाला स्थित कोविड एल-वन अस्पताल में अब 41 और एल-टू अस्पताल में तीन लोग भर्ती हैं। अन्य संक्रमित मरीज होम आइसोलेट चल रहे हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021