जागरण संवाददाता, एटा: इस बार विधानसभा चुनाव के दौरान हर बूथ पर निर्वाचन आयोग का चिह्न सजेगा। इसके साथ ही बूथ से संबंधित सूचना के साथ बीएलओ से लेकर पुलिस प्रशासन के अधिकारियों के दूरभाष नंबर भी अंकित किए जाएंगे।

यहां बता दें कि चुनाव से पहले तथा मतदान के दिन मतदाताओं को बूथ ढूंढने तथा बूथ से जुड़े कई मामलों को लेकर समस्याएं रहती हैं। पहले के चुनावों के दौरान ऐन वक्त पर यह सूचनाएं अस्थाई रूप से अंकित कर दी जाती थी। बूथ पर जाकर भी मतदाताओं को वोट डालने वाले बूथ के बारे में पूछताछ करने के लिए भी विवश होना पड़ता। चुनाव होने के बावजूद बूथ पर निर्वाचन आयोग का कोई निशान तक नजर नहीं आता। इस बार हर बूथ पर भारत निर्वाचन आयोग का चिह्न तो दिखेगा ही वहीं वाल पेंटिग के द्वारा बूथ वाले कक्ष के बाहर या फिर मुख्य स्थान पर विधानसभा क्षेत्र के नाम, मतदेय स्थल की संख्या व स्थान, निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी, सहायक निर्वाचक पंजीकरण अधिकारी का मोबाइल नंबर, सुपरवाइजर, बीएलओ व पदाविहित का नाम तथा मोबाइल नंबर के अलावा महिला हेल्पलाइन, पुलिस हेल्पलाइन, मतदान शिकायत केंद्र का टोल फ्री नंबर भी अंकित किया जाएगा।

हर बूथ पर इस तरह की व्यवस्था से मतदाताओं को मतदान में आने वाली हर दिक्कत का समाधान भी आसानी से प्राप्त हो सकेगा। बीएलओ से लेकर विधानसभा के रजिस्ट्रीकरण अधिकारी तक शिकायत तथा समस्या का समाधान प्राप्त किया जा सकेगा। बूथ तैयार किए जाने की व्यवस्थाओं में इसे भी शामिल किया गया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी सुनील कुमार सिंह ने बताया है कि आयोग के निर्देश का अनुपालन कराया जा रहा है। निर्धारित बूथों पर वाल पेंटिग शुरू हो गई है।

Edited By: Jagran