जागरण संवाददाता, एटा : कोतवाली नगर क्षेत्र में रोडवेज बस स्टैंड पर अवागढ़ थाना क्षेत्र का वृद्ध अचेत हालत में पड़ा मिला । पुलिस द्वारा उसे मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया। उसके जहरखुरानी का शिकार होने की आशंका जताई जा रही है।

सोमवार सुबह रोडवेज बस स्टैंड पर कुछ यात्रियों ने सड़क किनारे वृद्ध को अचेत हालत में पड़ा देखा तो सूचना पुलिस को दी। जानकारी मिलते ही बस स्टैंड पर तैनात सिपाही धर्मेंद्र कुमार मौके पर पहुंच गया। वह साथी पुलिस कर्मियों की मदद से वृद्ध को मेडिकल कालेज ले गया। होश में आने पर अवागढ़ थाना क्षेत्र के ग्राम मींसा कलां निवासी वृद्ध रूप सिंह ने स्वास्थ्य कर्मियों को बताया कि उनके साथ क्या हुआ उन्हें कुछ पता नहीं है। मामले की सूचना स्वजन को दे दी गई है।

मजदूर का बिसरा जांच को किया सुरक्षित: रिजोर थाना क्षेत्र के मजदूर की मौत का कारण साफ न होने पर उनका बिसरा जांच को सुरक्षित कर लिया गया है, जबकि मृतक के भाई ने लेन-देन के विवाद में भाई की मारपीट के बाद गला दबाकर हत्या करने की आशंका जताई।

पुलिस ने बताया कि ग्राम भुमरिया निवासी मजदूर पवन कुमार की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण साफ नहीं हुआ है। लिहाजा उनका बिसरा जांच को सुरक्षित कर लिया गया है। इधर मृतक के भाई रामनंदन ने लेन-देन के विवाद में घर से मजदूरी को गए भाई पवन कुमार का मारपीट कर गला दबाने और बेहोशी की हालत में मेडिकल कालेज में भर्ती कराने की आशंका जताई थी, जबकि पुलिस का मानना था कि गृहक्लेश में पवन ने सल्फास की गोली खाई है। इलाज के लिए आगरा ले जाते समय दम तोड़ दिया। रिजोर के इंस्पेक्टर संजीव कुमार त्यागी ने बताया कि मृतक का बिसरा जांच के लिए भेजा जा रहा है, बिसरा की जांच रिपोर्ट आने के बाद ही मजदूर की मौत का कारण साफ हो सकेगा।

Edited By: Jagran