एटा, जासं। प्रशासन और पुलिस की सख्ती से अवैध कब्जाधारियों के हौसले पस्त होते नजर आ रहे हैं। जिले में प्रस्तावित मेडिकल कालेज के लिए चयनित जमीन पर लोगों ने अपने हाथों से अपने घर तोड़ने शुरू कर दिए हैं।

पीएसी-मारहरा रोड स्थित नगला पुढिहार पर मेडिकल कालेज निर्माण के लिए श्री गांधी स्मारक इंटर कालेज प्रबंध समिति ने 41 एकड़ जमीन दान में दी है। लेकिन इसके कुछ हिस्सों पर 22 लोगों ने कच्चे-पक्के निर्माण कर अवैध रूप से कब्जे कर रखे थे, जिसके चलते शिलान्यास को लेकर कोई कदम नहीं बढ़ पा रहा। जबकि अतिक्रमणकारियों के पास जमीन को लेकर न कोई दस्तावेज हैं और न ही उन्हें न्यायालय से ही राहत मिली है। पिछले रविवार को प्रशासन ने यहां बैठक कर अवैध कब्जे हटवाने को 48 घंटे का अल्टीमेटम दिया था। लेकिन इस अवधि में किसी के न हटने पर प्रशासन की ओर से 22 लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज करा दी गई। इसके बाद गांव में फ्लैग मार्च शुरू कर दिया गया। आरोपितों पर गिरफ्तारी के साथ ही बलपूर्वक निर्माण ध्वस्त किए जाने की कार्रवाई का भी खतरा बना हुआ था। दबाव में आकर सोमवार को राजीव, अजीत, विजय, संतोष पुत्रगण मेहताब, द्वंदपाल, सुखवीर पुत्रगण सुनहरी लाल ने अपने मकान तोड़ना शुरू कर दिया। वहीं, उपेंद्र पुत्र रामवीर ने अपने घर का सामान निकालकर मकान खाली कर दिया। उधर, सोमवार को भी गांव में पुलिसबल ने फ्लैग मार्च कर अतिक्रमणकारियों को कड़ा संदेश दिया।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप