जागरण संवाददाता, एटा: डाकघरों को हाइटेक किए जाने की नई कोशिश ने लोगों के लिए मुश्किलें खड़ी कर दी हैं। अधिकांश डाकघरों में रजिस्ट्री और स्पीड पोस्ट का काम ठप हो गया है। जिसके चलते लोग मुख्यालय स्थित मुख्य डाकघर तक परेड लगाने को मजबूर हैं।

हाल ही में डाक विभाग ने ऑनलाइन सेवाओं के मद्देनजर सॉफ्टवेयर आदि को पूरी तरह बदला है। तीन दिन पहले सभी डाकघरों में नई व्यवस्था कोर सिस्टम इंटीग्रेसन लागू कर दी गई है। जिसमें ग्राहकों को तमाम सेवाएं ऑनलाइन दिए जाने का प्रावधान है। लेकिन शुरुआती दौर में ही यह व्यवस्था बुरी तरह लड़खड़ा गई है। कई डाकघरों पर सॉफ्टवेयर ढंग से काम नहीं कर पा रहे हैं। इस तरह की तकनीकी खामी के चलते कर्मचारियों ने हाथ खड़े कर रखे हैं। जिस एजेंसी से विभाग का अनुबंध हुआ है, वह सभी जगह एकसाथ सेवाएं नहीं दे पा रही है और कस्बाई इलाकों के अधिकांश डाकघरों में रजिस्ट्री तथा स्पीड पोस्ट तक नहीं हो पा रही हैं।

तमाम सरकारी कामकाजों, कचहरी संबंधी तथा अन्य कई कार्यों में रजिस्टर्ड डाक का ही महत्व है। ऐसे में हर दिन बड़ी संख्या में रजिस्ट्री की जाती हैं। सभी डाकघरों में काम बंटा होने के बावजूद मुख्य डाकघर पर खासी भीड़ रहती है। जबकि इन दिनों कस्बाई इलाकों तथा शहर में कलक्ट्रेट परिसर स्थित डाकघर के अलावा अन्य कई में भी काम नहीं हो पा रहा है। जिसके चलते अन्य कस्बों तक के लोगों को शहर स्थित मुख्य डाकघर की दौड़ लगानी पड़ रही है। वहां कतारें लग रही हैं। शुक्रवार को यहां आए गंजडुंडवारा के अवधेश कुमार और जैथरा के बिजेंद्र ¨सह ने बताया कि उनके यहां डाकघरों में रजिस्ट्री या स्पीड पोस्ट नहीं हो रही है। यहां भी दोपहर भर हो गया, सीट पर कर्मचारी नहीं है। जबकि भीड़ बहुत ज्यादा है। ऐसे में सभी लोगों को काफी असुविधा उठानी पड़ रही है। अधिकारी की बात

-----------

15 मई से नई व्यवस्था के तहत काफी बदलाव किए गए हैं। कुछ जगह तकनीकी दिक्कतें आ रही हैं। जिसे सही करने के लिए अनुबंधित एजेंसी के तकनीशियन कार्य कर रहे हैं। मुख्य डाकघर व शहर के अन्य डाकघरों में रजिस्ट्री का काम हो रहा है।

- एसआर दुबे, डाक अधीक्षक

Posted By: Jagran