जागरण संवाददाता, एटा: ग्रामीण डाक सेवकों ने दूसरे दिन भी काम नहीं किया। मुख्य डाक घर के अलावा क्षेत्रीय डाक घरों पर प्रदर्शन कर सरकार की वादा खिलाफी को कोसा। मुख्य डाक घर पर हड़ताल के दौरान सहायक प्रांतीय सचिव राजबहादुर दीक्षित ने कहा कि कर्मचारियों की मुख्य मांग 1 जनवरी 2016 से सातवें वेतन आयोग का लाभ दिए जाने को लेकर है। अल्पवेतन भोगी ग्रामीण डाक सेवकों को इसका लाभ ढाई साल बीत जाने के बाद भी नहीं दिया गया है। दूसरे दिन हड़ताल पर अशोक माहेश्वरी, जगदीश उपाध्याय, ओमप्रकाश, गनेशीलाल, ब्रह्मानंद मिश्रा, लक्ष्मण प्रसाद, अर¨वद कुमार, कैलाशचंद्र आदि डाक सेवक मौजूद थे।

जलेसर: सातवें वेतन आयोग की सिफारिशें लागू करने की मांग को लेकर अखिल भारतीय डाक सेवा संघ के आह्वान पर बुधवार को स्थानीय डाकघर में डाककर्मियों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की है। संघ के अध्यक्ष असरफ अली ने कहा कि जब तक सरकार मांगे नहीं मानेगी, कर्मचारी हड़ताल पर ही रहेंगे। इस अवसर पर नत्थू ¨सह, प्रेमपाल ¨सह, विजयपाल ¨सह, महावीर ¨सह सहित डाक कर्मी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस