जासं, एटा: डिपो में संचालित रोडवेज बसों की आमदनी दिनोंदिन कम हो रही है। इस पर अंकुश लगाने के लिए एआरएम ने 30 यात्रियों से कम पर बस संचालित न किए जाने का चालकों को आदेश दिया है। अधिकांश मार्गों पर निगम की बसों को घाटा हो रहा है। इससे बचने के लिए नया कदम उठाया जा रहा है।

चालक जल्द घर पहुंचने को लेकर बस में सवार होने वाले यात्रियों की संख्या पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। अपने किलोमीटर पूरे करने को लेकर निगम को घाटा पहुंचा रहे हैं। चालक बस में 10 और 20 यात्रियों को बैठाकर ही मार्गाें पर फर्राटा लगा रहे हैं। जिसे लेकर बस में खर्च होने वाले डीजल की कीमत भी वसूल नहीं हो पा रही है। इससे डिपो की इनकम लगातार कम हो रही है। पिछले दिनों हुए मिलान में पाया गया है कि डीजल अधिक कीमत का खर्च हुआ है। जबकि इनकम उसके हिसाब से नहीं हुई है। ऐसे में एआरएम राजेश यादव ने तीस यात्रियों से कम पर बस का मार्ग पर संचालन न किए जाने का आदेश जारी किया है। उन्होंने इस आदेश को प्रभावी बनाने के लिए बस स्टैंड प्रभारी को भी निर्देश दिया है। एआरएम राजेश यादव ने कहा कि इस आदेश का पालन होने न होने के लिए गोपनीय तरीके से बसों की चेकिग कराई जाएगी। दोषी पाए जाने वाले चालक परिचालक के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Jagran