जासं, एटा: शाम के वक्त झमाझम बारिश हुई और शहर पानी-पानी हो गया। गर्मी से काफी हद तक राहत मिली है। तेज हवा के साथ हुई बरसात से शहर के अंदर हाईवे के साथ ही अन्य मार्गों पर जलभराव हो गया। इसे लेकर लोगों को आने जाने में परेशानी का सामना करना पड़ा। नाले ओवरफ्लो होने के कारण बाजारों में बनी दुकानों के अंदर तक पानी पहुंच गया।

गुरुवार सुबह से ही गर्मी के तेवर अधिक दिखाई दिए। उमस अधिक होने से लोग परेशान रहे। मगर शाम छह बजे बादल छाए देखकर लोग बारिश होने से राहत मिलने की उम्मीद लगाने लगे। उसी समय तेज हवा के साथ बारिश शुरू हो गई। झमाझम बारिश होते ही लोगों को गर्मी और उमस से राहत तो मिली। मगर अधिक बरसात होने के कारण शहर के अंदर कई जगहों पर जलभराव हो गया। शहर के जीटी रोड, आगरा रोड, रेलवे रोड आदि जगहों पर सड़क पर जलभराव हो गया। इसके अलावा शहर के मुख्य बाजार हाथी गेट में सड़क निर्माण न होने के कारण अच्छा खासा जलभराव हो गया। जिसे लेकर लोगों को पानी से होकर ही गुजरना पड़ा। वहीं तेजी से हुई बरसात के कारण नाले ओवरफ्लो हो गए। इससे नाले का पानी लोगों की दुकानों तक पहुंच गया। इससे दुकानदारों का काफी नुकसान हुआ। दूसरी तरफ सीवर खोदाई वाले स्थान पर लोगों के लिए अधिक परेशानी हुई। खोदाई के बाद सड़क पर जमा मिट्टी में फिसलन हो गई। इससे लोग उस मार्ग से गुजरते वक्त दोपहिया वाहन से फिसलते हुए दिखे।

-------

किसान हो रहे परेशान

लगातार हो रही दो और चार घंटे तक झमाझम बारिश के बाद किसान हलकान हो रहे हैं। खेतों में दो फुट तक जलभराव हो गया है। ऐसे में वे ज्वार सहित अन्य फसल तैयार नहीं कर पा रहे हैं। गुरूवार को फिर से हुई बारिश के बाद किसान और अधिक परेशान होते दिखे। किसान मदनलाल ने बताया कि खेतों में पहले से भरा हुआ पानी सूख नहीं पाया है। इससे पहले हुई बारिश के बाद ज्वार की फसल तैयार करना मुश्किल हो रहा है। ज्वार की फसल तैयार न होने से भविष्य में पशुओं के लिए चारा का संकट होने के आसार दिखाई दे रहे हैं।

Edited By: Jagran