एटा, जासं। शहर के बीचोंबीच सिथेटिक दूध बनाने का सामान खुलेआम बेचा जा रहा था। खाद्य सुरक्षा विभाग की टीम ने छापा मारकर यहां से भारी मात्रा में सामान बरामद कर सील कर दिया। इस तरह के अन्य गोदामों की सूचना भी थी, लेकिन एक स्थान पर कार्रवाई होते ही अन्य कारोबारी सतर्क हो गए और दुकान-गोदाम बंद कर भाग गए।

इन दिनों खाद्य सुरक्षा विभाग मिलावटी दूध के खिलाफ विशेष अभियान चला रहा है। सूचना के आधार पर मंडलीय खाद्य सुरक्षा अधिकारी अरुण वर्मा और एटा के खाद्य सुरक्षा अधिकारी अनिल यादव और अरुण कुमार ने रोडवेज बस स्टैंड के पास आगरा रोड स्थित बौबी ट्रेडर्स पर छापा मारा। गोदाम के अंदर माल्टोडेक्सट्रिन (सूखा ग्लूकोज) की 25 बोरी, 400 लीटर सोर्बिटल और पांच बोतल महुआ का तेल मिला। इन सब सामान का प्रयोग आमतौर पर औद्योगिक इकाइयों में किया जाता है। जो एटा में नहीं हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि सिथेटिक दूध बनाने के लिए इसे सप्लाई किया जाता है। तीनों के एक-एक सैंपल लेकर पूरा सामान सील कर दिया गया। कई बार हो चुकी कार्रवाई

इस गोदाम पर कार्रवाई पहली बार नहीं हुई, कई बार पहले भी हो चुकी है। वर्तमान में भी मिलावट से संबंधित आधा दर्जन मुकदमे अदालतों में चल रहे हैं। पूर्व में आठ लाख रुपये तक का जुर्माना हो चुका है और मालिक जेल भी जा चुका है। इसके बावजूद यह धंधा बंद नहीं हुआ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप