एटा, जासं। परिषदीय स्कूलों में छात्र-छात्राओं की अनुपस्थिति चिता का विषय बनी हुई है। डीएम ने सोमवार को नगर के प्राथमिक और पूर्व माध्यमिक विद्यालयों का निरीक्षण किया तो हालात कुछ ऐसे ही नजर आए। दोनों जगह 240 बच्चों के नाम दर्ज थे, लेकिन कक्षाओं में महज 111 बच्चे उपस्थित थे।

डीएम सुखलाल भारती सोमवार दोपहर के समय शहर में पटियाली गेट स्थित कन्या प्राथमिक विद्यालय पहुंचे। यहां देखा कि कन्या प्राथमिक विद्यालय में 164 बच्चे नामांकित थे, जबकि 80 बच्चे उपस्थित थे। वहीं कन्या पूर्व माध्यमिक विद्यालय में 76 नामांकित बच्चों में से 31 बच्चे ही उपस्थित पाए गए। नामांकित बच्चों के सापेक्ष उपस्थित बच्चों की कम संख्या पर काफी नाराजगी व्यक्त करते हुए डीएम ने हिदायत देते हुए कहा कि बच्चों की उपस्थिति में सुधार किया जाए। विद्यालय स्टाफ इस ओर गंभीरता से ध्यान दे। सभी शिक्षक-शिक्षिकाओं का यह दायित्व है कि शिक्षा की गुणवत्ता में और अधिक सुधार लाते हुए बच्चों के भविष्य को उज्वल बनाने को हरसंभव प्रयास करें। पढ़ाई में कमजोर बच्चों पर विशेष रूप से ध्यान दें। इस दौरान डीएम ने बच्चों से गणित के सवाल हल कराए। कक्षा 4 और 5 के बच्चों के सही जवाब पर उन्हें पुरस्कृत किया। बच्चों का उत्साहवर्धन कर बेहतर स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने की सलाह दी। कहा कि पढ़ाई के साथ-साथ स्वास्थ्य पर भी ध्यान दें।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप