जागरण संवाददाता, एटा: प्रतिबंध के बावजूद हो रहे पॉलीथिन और प्लास्टिक के उपयोग पर भारतीय गोवंश रक्षण संवर्धन परिषद व जिला चित्रगुप्त कल्याण समिति युवा शाखा ने गहरी चिता जताई। वहीं प्रभावी कार्रवाई के लिए कलक्ट्रेट पहुंचकर जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपा।

विभाग संयोजक नेत्रपाल सिंह चौहान व जिला संयोजक विकास चौधरी ने कहा कि एकल उपयोग प्लास्टिक व पॉलीथिन की वजह से न केवल भूमि अपितु पानी और हवा में जहर घुल रहा है। जिसको देखते हुए अपने देश के साथ विश्व के विभिन्न देशों ने प्रतिबंध लगाया है तो इसका पालन कठोरता से कराना चाहिए। चित्रगुप्त कल्याण समिति युवा शाखा जिलाध्यक्ष हिमांशु कुलश्रेष्ठ व महासचिव आशीष कुदेशिया ने कहा कि खाने-पीने के ठेलों पर भी पॉलीथिन की थैलियों में गर्म खाना आदि ही उपभोक्ताओं को दिया जा रहा है। जो विभिन्न बीमारियों का कारक है। कोषाध्यक्ष क्षितिज सक्सेना, राजेश माथुर आदि ने अपने विचार रखे। वहीं प्रतिबंध के बावजूद ऐसे उत्पादों के उपयोग को रोकने के लिए दोनों ही संस्थाओं के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपे। इस मौके पर परिषद के रामतीर्थ शास्त्री, विकास चौधरी, अनुराग शास्त्री, विवेक कुमार सिंह, रमेश चंद्र सक्सेना, विवेक कुमार सिंह, योगेश सक्सेना के साथ समिति के पल्लव कुलश्रेष्ठ, शिवांग कुलश्रेष्ठ, मनीष सक्सेना, रवि कुलश्रेष्ठ, पुनीत कुलश्रेष्ठ, मुकुल कुलश्रेष्ठ, प्रभात, आकाश, विकास, प्रतीक, संचित आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस