जासं, एटा: उम्रदराज और दिव्यांग लोगों की सहमति होने पर ही उन्हें घर से वोट डालने के लिए पोस्टल बैलेट दिया जाएगा। इसके लिए 80 वर्ष से अधिक आयु वाले एवं दिव्यांग लोगों के लिए टीम घर-घर पहुंचकर सहमति ले रही है। उसी हिसाब से घर भेजने वाले डाक मतपत्र सुरक्षित कराए जाएंगे।

इस बार विधानसभा चुनाव में उम्रदराज और दिव्यांगों के लिए मतदान करने के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। इस तरह के लोगों को मतदान केंद्र तक पहुंचने में कई तरह की परेशानियां होती हैं। इसे देखते हुए कुछ लोग तो मतदान करने ही नहीं जाते हैं। इससे मतदान फीसद भी कम होता है। ऐसे में चुनाव आयोग ने इस तरह के लोगों को बूथ तक आने जाने में राहत देने के लिए घर से ही मतदान करने का अवसर दिया है, हालांकि इससे पहले इस तरह के लोगों की सहमति लेने के लिए सर्वे कराया जा रहा है। इसमें उनसे पूछा जा रहा है कि आखिर वे केंद्र पर पहुंचकर वोट देना पसंद करेंगे या फिर घर बैठकर ही अपने मताधिकार का प्रयोग करेगें। लोगों की जिज्ञासा जानने के लिए जनपद भर में टीम सक्रिय होकर सर्वे कर रही हैं। जिन लोगों की घर बैठ कर ही वोट देने की इच्छा है उनका फार्म भरवाया जा रहा है। इसके बाद बुजुर्ग और दिव्यांगों के लिए पोस्टल बैलेट सुरक्षित कराए जाएंगे। बता दें कि तहसील सदर क्षेत्र के मारहरा में 3228 दिव्यांग और 64100 मतदाता 80 वर्ष से अधिक आयु वाले हैं, जबकि एटा सदर क्षेत्र के शेष भाग में 2892 दिव्यांग और 6506 उम्रदराज मतदाता हैं। वहीं तहसीलदार सदर सीपी सिंह ने बताया कि सर्वे के लिए टीम निर्धारित कर दी गई हैं। इसके बाद संख्या के हिसाब से डाक मत पत्र सुरक्षित कराए जाएंगे।

Edited By: Jagran