एटा, जासं। गांव शाहनगर टिमरुआ पहुंचे डीएम को हालात बेहद खराब मिले। विकास कार्य कराए नहीं गए थे। जबकि लोगों को शौचालय बनाने के लिए दूसरी किश्त नहीं मिली। ओडीएफ में बरती गई इस लापरवाही को लेकर ग्राम पंचायत सचिव को निलंबित करने का आदेश दिया।

सोमवार शाम के समय डीएम सुखलाल भारती जलेसर ब्लॉक क्षेत्र के गांव शाहनगर टिमरुआ पहुंचे। विकास और निर्माण कार्यो का जायजा लेने के लिए गांव में पैदल भ्रमण किया। पता लगा कि गलियों में निर्माण कराया ही नहीं गया है। काफी पुराने खड़ंजा बिछे हुए हैं, जो जर्जर हाल में हैं। घूमते हुए गांव के तालाब पर पहुंचे तो यहां खुले में शौच के कारण माहौल खराब था। इस पर कड़ी नाराजगी जताते हुए डीएम ने वजह पूछी। ग्रामीणों ने बताया कि शौचालय बनवाने के लिए पहली किश्त तो दी गई, लेकिन दूसरी किश्त नहीं दी गई है। करीब 300 लोग किश्त के इंतजार में शौचालय पूरे नहीं बनवा सके हैं। जिसके चलते उनके परिवार खुले में शौच जाने को मजबूर हैं। इस लापरवाही पर डीएम ने ग्राम पंचायत सचिव शैलेंद्र कुमार को निलंबित करने का आदेश दिया। पंचायती राज विभाग को निर्देशित किया कि पैसा देकर सभी के शौचालय पूरे कराएं। इसके बाद भी कोई खुले में शौच करता है तो उसे पकड़कर जेल भेज दिया जाए। बाद में डीएम ने गांव के प्राथमिक विद्यालय में चौपाल लगाकर लोगों की समस्या, शिकायतें सुनीं। नावली में अस्थाई गोशाला का किया शुभारंभ

-------

इससे पहले डीएम ने निधौलीकला ब्लॉक की ग्राम पंचायत नावली पहुंचकर वहां बनाई गई अस्थायी गोशाला का शुभारंभ किया। निर्देश दिए कि अब कोई भी खुला एवं निराश्रित पशु क्षेत्र में नहीं दिखना चाहिए। चारागाह की जमीन पर दबंगों के कब्जे की शिकायत पर लेखपाल को चारागाह और तालाब से अवैध कब्जा हटवाने के निर्देश दिए। गांव में भ्रमण करते हुए लोगों को निर्देश दिए कि सड़क पर पशु बांधने वालों पर कार्रवाई होगी। इस अवसर पर डीडीओ एसएन कुशवाह, पीडी डीआरडीए निर्मल कुमार द्विवेदी, डीसी मनरेगा पीसी यादव आदि अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप