जासं, एटा: चयनित होने वाले पंचायत सहायकों को पहले प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके बाद उन्हें पंचायत भवनों पर तैनाती दी जाएगी। प्रशिक्षण कार्यक्रम ब्लाक और मुख्यालय स्तर पर आनलाइन होगा। चयन संबंधी मिली शिकायतों के निस्तारण उपरांत ही पंचायत सहायकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा।

पंचायत भवनों का सही तरीके से संचालन होने और लोगों को गांव में खतौनी, आय, जाति आदि प्रमाण दिलाने के लिए शासन ने पंचायत सहायकों की नियुक्ति की है। उसी को लेकर जिले में भी 575 पंचायत सहायकों की चयन प्रक्रिया अंतिम दौर में चल रही है। चयन से संबंधित मिली शिकायतों का निस्तारण को लेकर नियुक्ति प्रक्रिया में देरी हो रही है। इसके लिए एडीपीआरओ ने सोमवार तक शिकायतों की जांच करने वाले अधिकारियों को निपटारा करने का मौका दिया।

एडीपीआरओ मनोज त्यागी ने बताया कि चयनित होने वाले पंचायत सहायकों को पहले प्रशिक्षण देकर दक्ष किया जाएगा। इसके बाद उन्हें पंचायत भवन पर तैनात किया जाएगा। चयन संबंधी 37 शिकायतें मिली है। जिनका निस्तारण कराया जा रहा है। प्रशिक्षण पंचायत सहायकों को आनलाइन दिया जाएगा।

----

अधूरे पंचायत भवन बनेंगे रोड़ा: पंचायत सहायकों को बैठने के लिए पंचायत भवन का स्थान निर्धारित किया गया है, मगर अधिकांश जगहों पर आधे-अधूरे पंचायत भवन बने हुए हैं। इतना ही नहीं कुछ जगहों पर तो पंचायत भवन निर्माण शुरू नहीं हो सका है। ऐसे में पंचायत सहायकों के बैठने को लेकर असमंजस की स्थिति बनी हुई है।

Edited By: Jagran