एटा, जागरण संवाददाता: सोमवार को जनपद न्यायालय के केंद्रीय सभागार में राष्ट्रीय लोक अदालत के प्री-ट्रायल में तमाम वादों में सुलह की प्रक्रिया शुरू हो गई। न्यायाधिकारियों की पहल पर तमाम वादों में वादकारियों और प्रतिवादियों ने परस्पर हाथ मिलाते हुए अपने अपने विवादों को सुलह से समाप्त करा लिया।

ट्रायल कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही प्रधान न्यायाधीश पारिवारिक न्यायालय मृदुला कुमार ने कहा कि शमनीय प्रवृत्ति के विवादों पक्षकारों के बीच सुलह समझौते से मामला समाप्त करने का जब प्रावधान है तो फिर अदालतों को पहले सुलह के प्रयास कराने चाहिए। जिससे कि विवाद इस प्रकार से निस्तारित हो जाता है कि पक्षकारों के बीच परस्पर भाईचारा कायम हो जाता है। अन्यथा वे विरोधी के रूप में पेश आते हैं। ट्रायल में पक्षकारों के मध्य विभिन्न विवादों को सुलह से निपटाने की सहमति बनी। ट्रायल का संचालन सचिव साधना कुमारी गुप्ता ने किया। इस मौके पर नोडल अधिकारी मनीष कुमार, न्यायाधिकारी रमेश, कुमार गौरव, कैलाश कुमार, विपिन कुमार, रितेश सचदेवा, रीमा मल्होत्रा के साथ विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस