जासं, एटा: गुरुवार को कलक्ट्रेट पर भाजपा, सपा, कांग्रेस के चार प्रत्याशियों ने नामांकन दाखिल किए। नामांकन करने वालों में सदर सीट से भाजपा के विपिन वर्मा डेविड, सपा के जुगेंद्र सिंह यादव और कांग्रेस की गुंजन मिश्रा ने पर्चे दाखिल किए, जबकि अलीगंज सीट से सपा प्रत्याशी रामेश्वर सिंह यादव ने नामांकन किया है। इसके अलावा निर्दलीय प्रत्याशियों ने भी पर्चे दाखिल किए हैं। नामांकन के बाद प्रत्याशियों ने अपनी-अपनी जीत का दावा किया।

सदर विधानसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार विपिन वर्मा डेविड कुछ समर्थकों के साथ कलक्ट्रेट पर पहुंचे और अपना पर्चा तीन सेट में दाखिल किया। नामांकन के बाद उन्होंने कहा कि माहौल भाजपा के पक्ष में है, पांच साल में विकास कराने में कसर नहीं छोड़ी, जनता उन्हें सबसे ज्यादा वोट देगी। इसी सीट पर समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी जुगेंद्र सिंह यादव ने भी तीन सेट में अपना नामांकन किया है। उन्होंने कहा कि जनता भाजपा से तंग है और उसे हराने का मन बना चुकी है। सपा की रिकार्ड मतों से जीत होगी। कांग्रेस उम्मीदवार गुंजन मिश्रा भी अपने समर्थकों के साथ नामांकन दाखिल करने पहुंची और उन्होंने दो सेट में अपना पर्चा दाखिल किया। उन्होंने कहां कि कांग्रेस ने टिकट वितरण में महिलाओं को सम्मान दिया है। आधी आबादी उनके साथ है और कांग्रेस जीतेगी। वहीं अलीगंज से सपा उम्मीदवार रामेश्वर सिंह यादव ने भी तीन सेट में अपना पर्चा दाखिल किया है। उन्होंने कहा कि अलीगंज क्षेत्र की जनता भाजपा से आजिज आ चुकी है और इस बार सपा को जिताकर विधानसभा में भेजेगी। कलक्ट्रेट के अंदर सिर्फ उम्मीदवार और उनके साथ दो अन्य लोगों को जाने की ही अनुमति थी। प्रत्याशियों और अंदर जाने वाले लोगों को मोबाइल भी ले जाने की अनुमति नहीं थी। कड़ी रही सुरक्षा व्यवस्था

-कलक्ट्रेट पर सुरक्षा व्यवस्था काफी कड़ी थी। प्रशासन को पता था कि मुख्य पार्टियों के उम्मीदवार नामांकन के लिए आ रहे हैं इसलिए कलक्ट्रेट के आसपास सभी रास्तों पर नाकाबंदी कर दी गई थी। जीटी रोड स्थित कचहरी तिराहे पर भी बैरियर लगा दिया था। पर्याप्त संख्या में पुलिस व पीएसी के जवानों की तैनाती की गई थी। कलक्ट्रेट के अंदर सघन तलाशी के बाद ही प्रत्याशियों और उनके साथ गए लोगों को घुसने दिया गया। कोई भी प्रत्याशी शक्ति प्रदर्शन नहीं कर पाया। इस बार बदल गया नजारा

-कलक्ट्रेट का नजारा इस बार बदला हुआ था। कोविड प्रोटोकाल के कारण किसी भी प्रत्याशी को भीड़ ले जाने की अनुमति नहीं थी। इस वजह से प्रत्याशी अपने चंद समर्थकों के साथ ही कलक्ट्रेट पहुंचे और कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए अपने नामांकन दाखिल किए।

Edited By: Jagran