एटा, जागरण संवाददाता : जसरथपुर क्षेत्र में घर से खेलने को निकले मासूम ने पोल के सहारे लगे अर्थिग के तार को पकड़ लिया, जिसमें दौड़ रहे करंट की चपेट में आने से वह दूर जा गिरा और अचेत हो गया। हादसे की जानकारी मिलते ही परिजन मौके पर पहुंच गए। इलाज को अलीगंज स्वास्थ्य केंद्र लाते समय रास्ते में उसकी मौत हो गई। ठेकेदार व विद्युत विभाग के अधिकारियों की लापरवाही से परिजनों व ग्रामीणों में आक्रोश है।

रविवार सुबह 7 बजे छविराम का 4 वर्षीय पुत्र अनीस उर्फ नीतेश खेलने के लिए घर से निकल गया, उसने नेमसिंह के मकान के पास विद्युत पोल के सहारे लगे अर्थिग तार को पकड़ लिया। करंट लगते ही वह दूर जा गिरा और अचेत हो गया। हादसे की जानकारी मिलते ही पिता तथा अन्य परिजन व ग्रामीण मौके पर पहुंच गए। वह बेहोशी की हालत में उसे अलीगंज स्थित स्वास्थ्य केंद्र ले आए, जहां डाक्टर ने उसे देखते ही मृत घोषित कर दिया। ठेकेदार और विभागीय अधिकारियों की लापरवाही को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश पनप गया।

हादसे की सूचना पर स्वास्थ्य केंद्र पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। ग्राम प्रधान लोकपाल सिंह का कहना था कि अधिकांश विद्युत पोलों के सहारे लगे अर्थिग के तार में करंट की शिकायतें मिल रही हैं। कई बार ठेकेदार और विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया जा चुका है, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। मृतक के परिजनों तथा गांव के ही रवेंद्र सिंह, बालिस्टर सिंह, लाखन सिंह ने ठेकेदार व विभागीय अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया है। एसओ जसरथपुर अखिलेश कुमार ने बताया कि लापरवाही के संबंध में मृतक के परिजनों की ओर से रविवार शाम तक पुलिस को कोई तहरीर नहीं मिली है। पूर्व में हो चुकी है किसान की मौत

पोस्टमार्टम गृह पर मौजूद ग्रामीणों का कहना था कि पोलों के सहारे लगे अर्थिग के तार में 16 सितंबर को ग्राम अमृतपुर रघुपुर निवासी 27 वर्षीय किसान अनिल कुमार की मौत हो चुकी है। हादसे के समय वह खेत की ओर जा रहा था। तभी तार से हाथ छूने के कारण वह चिपक गया था।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस