जासं, एटा: जिले में शनिवार का दिन कोरोना संक्रमण का नया रिकार्ड बनाने वाला रहा। तीसरी लहर में सबसे अधिक एक दिन में 152 नए संक्रमित मिलने के बाद फिलहाल संक्रमण की रफ्तार कम होते नजर नहीं आ रही। ग्रामीण क्षेत्रों में भी अधिक मामले बढ़ रहे हैं। 95 संक्रमित स्वस्थ होने के बाद जिले में सक्रिय मामलों की संख्या 473 हो गई है।

हर रोज स्वास्थ्य विभाग संक्रमण कम होने को लेकर आशान्वित नजर आ रहा है, लेकिन जांच के बाद संक्रमण की स्थिति परेशानी बनी हुई है। शनिवार को भी कुछ ऐसी ही स्थिति रही, जब 152 लोग पाजिटिव निकले हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीमों द्वारा जिलेभर में 1329 लोगों का परीक्षण किया गया। उधर 95 लोग स्वस्थ घोषित किए गए, लेकिन 152 नए मामले होने के चलते सक्रिय केस बढ़कर फिर 473 हो गए। खास बात यह है कि शहरी क्षेत्रों के अलावा संक्रमण से नए गांव भी प्रभावित हो रहे हैं। जिन ग्रामीण क्षेत्रों में एक सप्ताह से मरीज सामने आ रहे हैं। वहां संक्रमण की रफ्तार कंटेंटमेंट जोन में किसी भी तरह का प्रतिबंध न होने के कारण बढ़ रही है। विकासखंड अवागढ़ क्षेत्र के गांव टिकाथर में एक साथ डेढ़ दर्जन मामले सामने आए हैं, जहां पिछले सप्ताह से ही हर रोज संक्रमित निकल रहे हैं। जलेसर में सालबहानपुर के बाद रेजुआ में भी संक्रमण तेजी से बढ़ने की स्थिति सामने आई है। उधर मलावन प्लांट पर भी हर रोज संक्रमित बढ़ने से आसपास के क्षेत्र में भी खतरा बढ़ रहा है। अब जिले में 2538 कंटेंटमेंट जान हो चुके हैं।

शनिवार को नगर क्षेत्र के अंतर्गत सीएमओ कार्यालय के दो कर्मचारियों के अलावा मुहल्ला अरुणा नगर, बस स्टैंड, पीपल अड्डा, सावरकर नगर, पटियाली गेट, कोतवाली नगर, शांति नगर, पीपल अड्डा, नगला पोता, चित्रगुप्त कालोनी, आगरा रोड तथा ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम शिवसिंहपुर, निधौलीकलां, पिलुआ, नजरपुर, बिल्सड, नगरिया, बरा, भोड़ेला, मिरहची, जैथरा, ढकपुरा, ओखला, नासिरपुर, अंगदपुर आदि स्थानों पर भी संक्रमित पाए गए हैं। सीएमओ डा. उमेश चंद्र त्रिपाठी का कहना है कि कंटेंटमेंट जोन में प्रतिबंधों को लेकर सिर्फ स्वास्थ्य मंत्रालय की गाइडलाइन का पालन कराया जा रहा है। लोग खुद भी सजग होकर गाइडलाइन का पालन करें तथा संक्रमण से बचें।

Edited By: Jagran