जासं, एटा: अवागढ़ थाने से कुछ दूरी पर ही आरोपियों ने सोमवार रात को गोकशी की घटना को अंजाम दे दिया। मंगलवार सुबह हिदूवादी संगठन तथा सामाजिक लोगों में आक्रोश पनप गया। सुबह पुलिस ने गोकशी के अवशेष कब्जे में कर लिए। वहीं एक नामजद आरोपित को भी गिरफ्तार किया है।

सोमवार की रात नौ बजे के बाद अनवार निवासी मुहल्ला भिस्तियान ने सहनऊआ रोड साई मंदिर के समीप से एक गाय पकड़ी। ब्लाक कालोनी निवासी सुभाष के लड़के को लालच देकर कस्बा से बाहर ले जाने को कहा। थाना परिसर से कुछ दूरी पर गाय पहुंचाते ही चार आरोपितों ने उसे मारा पीटा तथा उसके सामने ही खेत में गोकशी को अंजाम दिया। सुबह जानकारी प्रत्यक्षदर्शी लड़के के पिता ने पुलिस को दी। कुछ ही देर में गोकशी की जानकारी हिदूवादी संगठनों और व्यापारियों को भी हो गई। मौके पर पुलिस ने गो अवशेष इकट्ठे किए। वहीं आक्रोशित लोगों ने थाने में विरोध जताया और आरोपितों की गिरफ्तारी की मांग की। अनवार सहित चार लोगों के विरुद्ध एफआइआर दर्ज की गई है। वहीं पुलिस ने मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पूर्व विधायक ने थाना प्रभारी के विरुद्ध दी तहरीर:

पूर्व विधायक कुबेर सिंह अंगरिया ने क्षेत्र में गोहत्याओं के लिए थाना प्रभारी को जिम्मेदार बताते हुए उनके विरुद्ध तहरीर दे दी। तहरीर में उन्होंने हाल ही में पुन्हैरा तथा पौंढरी में गोहत्याओं के बाद भी कोई कार्रवाई न किया जाना पुलिस संरक्षण की बात कही। गोकशी के मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर लिया गया है। थाना प्रभारी के खिलाफ तहरीर किसी भी सक्षम अधिकारी को नहीं दी गई है अगर तहरीर मिलती है तो जांच कराई जाएगी।

उदय शंकर सिंह, एसएसपी, एटा

Edited By: Jagran