स्कूल वैन में लगी आग, बाल-बाल बचे बच्चे

जागरण संवाददाता, एटा : थाना जलेसर क्षेत्र के अंतर्गत जलेसर-सादाबाद मार्ग पर एक स्कूल वैन में आग लग गई। वैन में कुछ बच्चे भी मौजूद थे जिन्हें चालक ने सुरक्षित निकाल लिया, लेकिन वैन देखते ही देखते आग का गोला बन गई। गांव दिलोखरा स्थित संत अजव देव जूनियर हाईस्कूल की छुट्टी गुरुवार को दो बजे हुई थी। मारुति वैन स्कूल के 12 बच्चों को उनके घर छोड़ने जा रही थी। रास्ते में कुछ बच्चे उतार दिए और तीन-चार बच्चे वैन में रह गए। जब यह वैन गांव दिलोखरा स्थित बंबा पर पहुंची तो धुआं उठने लगा। चालक ने जब यह स्थिति देखी तो गाड़ी रोक ली और सबसे पहले सभी बच्चों को सकुशल बाहर निकाल लिया। बच्चे जब उतर आए, तभी गाड़ी में से भीषण लपटें उठने लगीं और आसमान में धुआं छा गया। यह स्थिति देख बच्चे भी घबरा गए। तत्काल ही आसपास के खेतों पर काम कर रहे लोग मदद के लिए आगे आ गए और उन्होंने अपने साधनों से आग बुझाने की भरपूर कोशिश की, मगर आग इतनी भीषण थी कि लोग बुझा नहीं पाए और गाड़ी पूरी तरह से जल गई। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि काफी देर बाद धुआं छट पाया। घटना का किसी ने वीडियो बना लिया और उसे वायरल कर दिया। दमकल भी आग बुझने के बाद पहुंची। उधर, बच्चों के अभिभावकों को जब पता चला कि गाड़ी में आग लगी है तो वे भी घबरा गए और मौके पर पहुंच गए। अपने बच्चों को सुरक्षित देख उन्होंने राहत की सांस ली। सीओ जलेसर इरफान नासिर खान ने बताया कि स्कूली वैन में आग लगने की सूचना मिली थी, सभी बच्चे सुरक्षित हैं। जब वैन में आग लगी तब उसमें बच्चे नहीं थे। चालक ने बताया है कि बच्चों को कोई खतरा नहीं होने दिया। बच्चों की सूझबूझ से बची जान -स्कूली मारुति वैन में जब धुआं उठ रहा था तो सबसे पहले उसे बच्चों ने देख लिया। गाड़ी के चालक-मालिक तेज सिंह निवासी दिलोखरा को बताया। तब तक धुआं और तेज हो चुका था। बच्चे शोर मचाने लगे, लेकिन चालक ने भी तत्परता दिखाई और बच्चों को सुरक्षित निकाल लिया। एलपीजी गैस से चल रही थी वैन --वैन का संचालन एलपीजी गैस से हो रहा था। गाड़ी में आग का कारण चालक के मुताबिक शार्ट सर्किट रहा, लेकिन जब लपटें उठने लगीं तो गैस की वजह से आग ने और ज्यादा विकराल रूप ले लिया, जिससे पूरी गाड़ी जल गई।

Edited By: Jagran