जागरण संवाददाता, एटा: कृषि विभाग द्वारा शुरू की गईं किसान पाठशालाओं में 7235 किसानों को पहले चरण की शुरुआत में प्रशिक्षण दिया गया। प्रत्येक न्याय पंचायत क्षेत्र में दो-दो गांवों में यह कार्यशालाएं आयोजित की गईं, जिनमें कई वरिष्ठ अधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

विकासखंड शीतलपुर की ककरावली ग्राम पंचायत में आयोजित कार्यशाला में मारहरा के विधायक वीरेंद्र लोधी ने कहा कि सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए अनेक कदम उठाए हैं। आवश्यकता इस बात की है कि किसान नई तकनीकी की जानकारी लें। इसीलिए पाठशालाएं आयोजित की गई हैं। उन्होंने कहा कि इन पाठशालाओं में अधिक से अधिक किसानों को आकर प्रशिक्षण लेना चाहिए। फसल बीमा योजना का लाभ किस तरह लिया जाए यह पाठशालाओं में बताया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी उग्रसेन पांडेय ने कहा कि कृषि विभाग किसानों की उन्नति के लिए गंभीर है। सरकार की योजनाओं का लाभ लेने के लिए किसानों को अधिकारियों और कर्मचारियों से संपर्क करना चाहिए। अगर संवादहीनता रहेगी तो किसान पूरी तरह से लाभ नहीं उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि कृषि विभाग के साथ ही अगले दो दिनों में उद्यान, पशुपालन, बैंक, मत्स्य, सहकारिता आदि विभागों द्वारा भी किसानों को पाठशालाओं में जानकारी दी जाएगी। इसलिए ज्यादा से ज्यादा किसान प्रशिक्षण लेने के लिए पहुंचे।

सीडीओ ने खरीफ की फसल धान, मक्का, बाजरा की प्रजातियों पर 50 प्रतिशत अनुदान दिए जाने से संबंधित जानकारी भी किसानों को दी। इसके अलावा ऑनलाइन कृषक पंजीकरण, मृदा स्वास्थ्य कार्ड, कृषि यंत्र अनुदान योजना के बारे में भी बताया। पहले चरण में 72 किसान पाठशालाएं आयोजित की गईं। दूसरे चरण में भी इतनी ही आयोजित की जाएंगीं। पहले चरण में 6115 कृषक पुरुष, 1120 कृषक महिलाएं प्रशिक्षण के लिए आईं। इस अवसर पर रघुवीर ¨सह, अर¨वद कुमार, सुबोध कुमार, सतीशचंद्र, सुधीर ¨सह तोमर, जैवेश कुमार आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस