एटा, जागरण संवाददाता। कोतवाली नगर क्षेत्र की गल्ला मंडी में छत से गिरकर घायल हुए पल्लेदार की इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। स्वजन और साथी शव को आढ़त के सामने रखकर मुआवजे की मांग करने लगे। आढ़ती के न आने पर गल्ला मंडी के गेटों पर तालाबंदी कर जमकर हंगामा किया। समझौते के बाद आक्रोशित लोग शांत हो सके।

शहर के मुहल्ला चोंचा बनगांव निवासी 45 वर्षीय जयवीर सिंह गल्ला मंडी में अलीम खां की आढ़त पर पल्लेदारी करते थे। 11 नवंबर को वह आढ़त पर छत से गिरकर घायल हो गए। उन्हें इलाज के लिए आगरा ले जाया गया, जहां रविवार सुबह उनकी मृत्यु हो गई। 

स्वजन शव को गल्ला मंडी ले आए और आढ़त के सामने रखकर मुआवजे की मांग करने लगे। पल्लेदार की मौत की जानकारी मिलते ही साथी भी मौके पर पहुंच गए। आढ़ती के गल्ला मंडी में न आने पर आक्रोशित स्वजन और साथियों ने मंडी के गेटों पर ताले जड़ दिए।

इस दौरान आक्रोशितों द्वारा जीटी राड स्थित मंडी के मुख्य गेट पर जमकर हंगामा किया गया। जानकारी मिलते ही गल्ला मंडी के अध्यक्ष प्रतीक गुप्ता तथा पुलिस मौके पर पहुंच गई। पल्लेदार के स्वजन को आढ़ती से डेढ़ लाख रुपये का मुआवजा दिलाया गया, तब कहीं जाकर आक्रोशित स्वजन और साथी पल्लेदार शांत हो सके। समझौते के बाद ही गल्ला मंडी के गेट के ताले खोले गए। कोतवाली नगर के इंस्पेक्टर डा. सुधीर कुमार सिंह ने बताया कि पोस्टमार्टम के बाद शव स्वजन के सुपुर्द कर दिया गया।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट