एटा, जागरण संवाददाता। शहर से लेकर गांवों तक में हुए फाल्ट और ब्रेकडाउन के कारण 20 घंटे तक विद्युत सप्लाई ठप रही। विकास भवन सहित कई अन्य सरकारी दफ्तरों में विद्युत आपूर्ति न होने से कामकाज नहीं हुआ। देर शाम तक ग्रामीण क्षेत्र के कई इलाकों में सप्लाई सुचारू नहीं हो सकी थी। शहर में कटौती से परेशानी रही। पेयजल के लिए लोग इधर-उधर भटकते नजर आए। 

भारी वर्षा के चलते विकास भवन में दिनभर कामकाज नहीं हुआ। अन्य सरकारी कार्यालयों के कंप्यूटर तक नहीं खुले। शहर में लोगों के इन्वर्टर जवाब दे गए और मुश्किल का सामना करना पड़ा। दो दिन तक हुई वर्षा के कारण जिले में विद्युत व्यवस्था भी लड़खड़ा गई। 

गंगनपुर बिजली घर की लाइन टूटने से हुई परेशानी

गुरुवार के बाद शुक्रवार को भी जनपद भर में बिजली व्यवस्था सुचारू नहीं हो सकी। शहर के अधिकांश भाग में 20 घंटे तक सप्लाई बाधित रही। तारों पर पेड़, टहनी आदि टूटकर गिरने से बिजली लाइन टूट गई। गंगनपुर बिजली घर से जाने वाली लाइन टूटने के कारण सबसे ज्यादा परेशानी हुई। औद्योगिक क्षेत्र के फीडर पर ब्रेक डाउन होने के कारण उस क्षेत्र में सप्लाई बाधित रही।

नगर पालिका फीडर क्षेत्र में सबसे अधिक फाल्ट और तार टूटने की घटनाएं हुईं। इसे लेकर शहर के जीटी रोड, अलीगंज तिराहा, नेहरू नगर, शीतलपुर, मंडी, होली मुहल्ला, कटरा मुहल्ला आदि जगहों पर देर शाम तक सप्लाई सुचारू नहीं हो सकी। 

गुरुवार रात से सप्लाई हुई थी बंद

मदनलाल ने बताया कि अलीगंज रोड पर गुरुवार रात को वर्षा होने के बाद सप्लाई बंद हो गई थी। अगले दिन शाम तक चालू नहीं हो सकी। इसे लेकर इन्वर्टर जवाब दे गए और रात अंधेरे में काटनी पड़ी। सुबह को सप्लाई न मिलने के कारण जनरेटर चलाकर पेयजल जुटाया। 

वहीं दूसरी तरफ सप्लाई ठप होने के कारण लोगों का कारोबार भी बंद रहा। उनका काफी नुकसान हुआ। वहीं अधिशासी अभियंता आरवी राय ने बताया कि कई जगहों पर लाइन खराब होने के कारण सप्लाई सुचारू नहीं हो सकी। कर्मचारियों के माध्यम से लगातार काम कराया गया है।

Edited By: Shivam Yadav