जासं, एटा: जलेसर तहसील में डीएम ने भूमि पैमाइश वाले मामलों में देरी होने पर कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। साथ ही उन्होंने कहा कि संपूर्ण समाधान दिवस में आने वाली शिकायतों को समय सीमा अंदर निस्तारित करते हुए लोगों को संतुष्ट करें। तीनों तहसील में 126 लोग शिकायत लेकर पहुंचे। डीएम ने छात्र और छात्राओं को चश्मा वितरित किए।

तीनों तहसीलों में आयोजित हुए संपूर्ण समाधान दिवस पर जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल एवं एसएसपी उदय शंकर सिंह ने जलेसर तहसील क्षेत्र के लोगों की समस्याओं को सुना। जिलाधिकारी ने कहा कि जनशिकायतों का निस्तारण निर्धारित समयावधि में करते हुए शिकायत की गुणवत्ता पर विशेष रूप से फोकस किया जाए। जिन शिकायतों का निस्तारण गुणवत्तापरक नहीं होता है, ऐसे प्रकरण शासन द्वारा सी-कैटेगरी में चिह्नित कर लिए जाते हैं। 

जिलाधिकारी ने जमीन पैमाइश संबंधी प्रकरणों को लेकर अधीनस्थों से इस काम में लापरवाही न बरतने की हिदायत दी है। 57 शिकायतों में से छह का मौके पर ही अधिकारियों ने निस्तारण किया, जबकि एडीएम वित्त एवं राजस्व आयुष चौधरी ने तहसील सदर में एसडीएम शिव कुमार, तहसीलदार सीपी सिंह की मौजूदगी में जन समस्याओं को सुनते हुए 47 में तीन मामलों का निस्तारण किया गया। 

इसी क्रम में तहसील अलीगंज में एडीएम प्रशासन आलोक कुमार, एसडीएम मानवेन्द्र सिंह आदि ने जन समस्याओं को सुनते हुए 22 में से दो शिकायतों का मौके पर निस्तारण कर दिया। मुख्य विकास अधिकारी डा. अवधेश कुमार वाजपेयी, सीएमओ डा. उमेश कुमार त्रिपाठी, एसडीएम रामनयन, डीआइओएस मिथलेश कुमार, बीएसए संजय सिंह, समाज कल्याण अधिकारी रश्मी यादव, डीएओ मनवीर सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट