जागरण संवाददाता, एटा: जनपद में कोरोना बेकाबू हो चुका है। निरंतर पाजिटिव केस मिल रहे हैं। सोमवार को विभिन्न माध्यमों से कराई गई जांच में आठ लोग और पाजिटिव मिले हैं। कोरोना पाजिटिव लोगों के घरों के आसपास के मकानों में रहने वालों की भी सैंपलिग कराई जा रही है। इधर, स्वास्थ्य विभाग टीकाकरण पर जोर दे रहा है।

गंगनपुर में एक 55 वर्षीय व्यक्ति तथा एटा शहर के अरुणा नगर में 34 वर्षीय युवक, गांव करीमपुर में 27 वर्षी युवती, गांव मौगवां में 20 वर्षीय युवक, गांव मूठ में 24 वर्षीय युवक व गांव मलिगा में 28 वर्षीय महिला पाजिटिव पाई गई है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें इन गांवों में पहुंची और बड़े पैमाने पर सैंपलिग शुरू कर दी। मारहरा में पिता-पुत्र संक्रमित:

कस्बा के एक मुहल्ला निवासी 65 वर्षीय वृद्ध ने 19 मार्च को कोविड की वैक्सीन लगवाई थी। इसके बाद उन्हे बुखार की शिकायत हुई, तो करीब पांच दिनों तक जिला अस्पताल में इलाज चला। मिरहची प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र द्वारा उनके कोविड टेस्ट के लिए सैंपल लिया गया था। रविवार को आरटी-पीसीआर रिपोर्ट में वह पाजीटिव पाए गए। सोमवार को डा. केके गुप्ता के नेतृत्व में टीम द्वारा संक्रमित वृद्ध के परिवार के 14 स्वजनों की सैंपलिग की गई। इसमें वृद्ध के 40 वर्षीय पुत्र की रैपिड एंटीजन रिपोर्ट पाजीटिव निकली है। मारहरा सीएचसी प्रभारी डा. अनंत कुमार ने बताया कि संक्रमित वृद्ध को कासगंज के मिशन अस्पताल में भर्ती, जबकि युवक को होम क्वारंटाइन कराया गया है। इसके अलावा समीपवर्ती घरों के सदस्यों की सैंपलिग के साथ-साथ मुहल्लावासियों को होम्योपैथिक रोग प्रतिरोधक दवा भी पिलाई गई है। सभी के सैंपल, आरटी-पीसीआर जांच के लिए भेजे गए हैं। रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

इधर, जनपद में चौथे चरण के दौरान 61 स्थानों के 78 केंद्रों पर कोरोना टीकाकरण किया गया। टीकाकरण केंद्रों में जिला व ब्लाकस्तरीय स्वास्थ्य इकाइयां व वेल्थ एंड वैलनेस सेंटर्स शामिल हैं। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. अरविद कुमार गर्ग ने बताया कि सोमवार को नौ हजार से अधिक लोगों के टीका की सीमा निर्धारित की गई थी। लोग टीकाकरण को लेकर उत्साहित दिखे। बाक्स--

आज 60 केंद्रों पर टीकाकरण:

इसके अलावा जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डा. राम सिंह ने बताया कि जनपद में छह अप्रैल को भी 60 से अधिक टीकाकरण केंद्रों पर टीकाकरण किया जाएगा। इन टीकाकरण केंद्रों में हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर भी शामिल है। उन्होंने बताया कि सभी टीकाकरण केंद्रों पर 45 वर्ष से अधिक उम्र के सभी व्यक्ति (आधार कार्ड के साथ आने वाले या आनलाइन रजिस्ट्रेशन करने वाले) व कोरोना की दूसरी डोज वाले व्यक्ति अपना कोविड-19 टीकाकरण करवा सकते हैं। कोविड-19 टीकाकरण को ज्यादा से ज्यादा पात्र लाभार्थियों तक पहुंचाने के लिए हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर्स को भी इसमें शामिल किया गया है। इन केंद्रों को शामिल किए जाने से ग्रामीण क्षेत्रों में कोविड-19 टीकाकरण की रफ्तार भी बढ़ेगी।

डीआइओ ने अपील की है कि लोग टीकाकरण केन्द्र पर जाकर यथाशीघ्र अपना कोविड-19 टीकाकरण करवा लें। यह टीका पूरी तरह निश्शुल्क है।

Edited By: Jagran