जागरण संवाददाता, एटा: कोरोना संक्रमण के हालात जिले में भी बेकाबू होते नजर आ रहे हैं। असरौली में तो कोरोना बम फूट गया। यहां एक ही दिन में नौ लोग संक्रमित पाए गए हैं। जबकि पूरे जिले में 15 लोग पाजिटिव निकले हैं। जिले के रहने वाले एक उद्योगपति के संक्रमित होने के बाद उनकी पत्नी और मैनेजर की रिपोर्ट भी पाजिटिव आई है।

होली पर लोगों की आवाजाही बहुत ज्यादा रही। लगातार दी जा रही सावधानी की हिदायतों को भी अधिकांश लोगों ने महत्व नहीं दिया। इसका नतीजा कोरोना संक्रमण फैलने के रूप में अब सामने आने लगा है। सबसे अधिक प्रभाव शहर के निकटवर्ती गांव असरौली में देखने को मिला है। यहां मेडिकल टीम द्वारा कुल 150 लोगों की जांच के लिए सैंपल लिए गए। इनमें से 85 लोगों की जांच एंटीजन रैपिड किट के जरिए की गई। इसमें 50 वर्ष की दो महिलाएं, 30 और 32 वर्षीय महिलाएं, 25 और 21 वर्षीय युवतियां, 45 वर्षीय युवक, 62 वर्षीय वृद्ध और आठ वर्षीय बालक संक्रमित पाये गये। मेडिकल टीम ने सभी को होम आइसोलेट होने के निर्देश दिए। जबकि 65 लोगों के सैंपल जांच के लिए अलीगढ़ भेजे गए हैं।

शनिवार को शहर के एक उद्योगपति बरेली में जांच के दौरान संक्रमित मिले थे। रविवार को उनकी पत्नी भी वहीं संक्रमित पाई गई हैं। जबकि यहां उनकी फर्म में प्रबंधक के रूप में कार्य कर रहे 47 वर्षीय व्यक्ति भी जांच के दौरान संक्रमित मिले हैं। उन्होंने एक अप्रैल को एंटीजन किट से जांच कराई थी, जिसमें निगेटिव बताया गया। अगले दिन आरटीपीसीआर विधि से जांच कराने के लिए सैंपल अलीगढ़ भेजा। रविवार को आई रिपोर्ट में उन्हें पाजिटिव घोषित किया गया है। इनके अलावा शहर के अरुणा नगर निवासी 32 वर्षीय महिला, मारहरा कस्बा निवासी 70 वर्षीय वृद्ध, अवागढ़ कस्बा निवासी 46 और 36 वर्षीय महिला, शीतलपुर ब्लाक क्षेत्र के गांव बहादुरगढ़ निवासी 37 वर्षीय युवक भी संक्रमित पाए गए हैं।

दो लोगों की हालत बिगड़ी, रेफर

--------

शहर के मुहल्ला विजय नगर के रहने वाले दो कोरोना मरीजों की हालत बिगड़ गई। उन्हें अलीगढ़ रेफर किया गया है। एक अप्रैल को वहां एक ही परिवार के दो लोग संक्रमित पाए गए थे। होम आइसोलेशन की स्थिति में उनके स्वास्थ्य की जांच करने रविवार को मेडिकल टीम घर पर पहुंची। उनकी स्थिति चिताजनक देखते हुए अलीगढ़ मेडिकल कालेज के लिए रेफर कर दिया।

Edited By: Jagran