जासं, एटा: मंगलवार को कोरोना विस्फोट हो गया। एक ही दिन में 37 मरीज मिलने से संक्रमितों और स्वजन सहित स्वास्थ्य महकमे में खलबली मच गई।

जिला कारागार में पिछले दिनों पांच बंदी संक्रमित मिले थे। स्वास्थ्य महकमे ने वृहद स्तर पर जांच कराई। इसमें 13 बंदी संक्रमित पाए गए हैं। उधर, जिला कारागार को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए बनाई गई अस्थायी जेल में भी कोरोना फैल गया। यहां जांच में 12 बंदी संक्रमित आए हैं। इन सभी को बागवाला स्थित कोविड अस्पताल पहुंचाया गया है। इनके अलावा शहर के किदवई नगर निवासी 66 वर्षीय निजी चिकित्सक, आगरा रोड चुंगी निवासी 30 वर्षीय युवक, गली बल्देव सहाय निवासी 70 वर्षीय वृद्ध, रैवाड़ी मुहल्ला निवासी 45 वर्षीय युवक, कस्बा राजा का रामपुर निवासी 58 वर्षीय व्यक्ति और 54 वर्षीय महिला, मारहरा क्षेत्र के गांव जिन्हैरा निवासी 63 वर्षीय वृद्ध और 45 वर्षीय युवक, सकीट के गांव उरैना निवासी 60 वर्षीय वृद्ध, नयाबांस निवासी 24 वर्षीय युवक, गिरौरा निवासी 33 वर्षीय युवक, नेहचलपुर निवासी 22 वर्षीय युवती संक्रमित पाई गई है। कोरोना रोकथाम को मिले 80 हजार साबुन: कोरोना रोकथाम के लिए शासन ने जनपद में 80 हजार साबुन उपलब्ध कराए हैं। जिन्हें आंगनबाड़ी और पंचायत भवनों पर वितरण किया जाएगा।

मौसम बदलते ही कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। उसी को ध्यान में रखते हुए शासन ने यूनीसेफ के सहयोग से सुरक्षा के लिए नया कदम उठाया है। मास्क और सैनिटाइजर के बाद शासन ने अब कोरोना से बचाव के लिए साबुन उपलब्ध कराना शुरू किया है। अलीगढ़ में हुई मंडलायुक्त की बैठक के बाद जनपद को 93 हजार साबुन उपलब्ध होने का आश्वासन मिला था। इसमें से 80 हजार साबुन शासन ने उपलब्ध कराए हैं। इन्हें जिला पंचायत राज अधिकारी कार्यालय में रखवाया गया है। डीपीआरओ आलोक कुमार प्रियदर्शी ने कहा कि साबुनों को जनपद के सभी आंगनबाड़ी केंद्र, पंचायत भवन, सरकारी स्कूलों में वितरित किए जाएंगे, ताकि कोरोना संक्रमण पर अंकुश लग सके।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप