जासं, एटा: कोतवाली नगर और अवागढ़ थाना क्षेत्र में शिक्षा व स्वास्थ्य विभाग में नौकरी के नाम पर दो लोगों से 23 लाख की ठगी कर ली गई। एक मामले की रिपोर्ट अदालत के आदेश पर दर्ज हो सकी है।

कोतवाली देहात क्षेत्र के ग्राम नासिरपुर निवासी धनपाल सिंह ने एसएसपी को दिए प्रार्थनापत्र में कहा कि वह शहर के मुहल्ला नारायन नगर में किराए पर रहता है। उसकी मुलाकात किराए पर रह रहे मुरादाबाद जनपद के जुबैर और दिलशाद से हुई थी। इस दौरान उन दोनों ने कहा कि सचिवालय में उनकी अच्छी जुगाड़ है। वह पैसा खर्च करे तो शिक्षा विभाग में नौकरी लगवा सकते हैं। आरोप है कि तीन बार में दोनों ने 18 लाख रुपये ले लिए। इसके बाद दोनों आरोपित लापता हो गए। दोनों के मोबाइल फोन भी बंद हैं। एसएसपी सुनील कुमार सिंह ने पीड़ित के प्रार्थनापत्र पर कोतवाली नगर पुलिस को रिपोर्ट दर्ज करने के निर्देश दिए। वरिष्ठ उपनिरीक्षक देवीचरण सिंह ने बताया कि 18 लाख की रकम हड़पने का मामला जुबैर और दिलशाद के खिलाफ दर्ज कर लिया गया है। फिलहाल मामले की विवेचना की जा रही है।

दूसरी ओर अवागढ़ कस्बा निवासी रतन सिंह ने अदालत को दिए प्रार्थनापत्र में कहा कि उससे फतेहगढ़ जनपद के बांस मंडी निवासी भगवान सिंह समेत आठ लोगों पर बेटी गुड़िया की स्वास्थ्य विभाग में नौकरी लगवाने के नाम पर पांच लाख रुपये ठग लिए। पुलिस द्वारा तहरीर देने के बाद भी रिपोर्ट दर्ज नहीं की गई। उपनिरीक्षक भवानी शंकर ने बताया कि अदालत के आदेश पर रिपोर्ट भगवान सिंह समेत आठ के खिलाफ दर्ज कर ली गई है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप