देवरिया: जिला चिकित्सालय के पीआइसीयू में क्षेत्र की पगरा निवासी चार वर्षीया बच्ची पलक को उसके परिजनों ने गंभीरावस्था में भर्ती कराया। बाल रोग विशेषज्ञ डा. आरसी झा को स्टाफ नर्सो ने सूचना दी और वे उसे बचाने में जुट गए। इस बीच कुछ लोग मौके पर पहुंच गए और उनसे बच्ची के बारे में पूछने लगे। जिस पर चिकित्सक ने कहा कि अभी बच्ची गंभीर है हम लोग परेशान हैं उसकी जान बचाने में जुटे हैं। इसे लेकर वहां मौजूद युवक उनसे उलझ गया और कुछ लोगों को बुला लिया। वह चिकित्सक का जूता पहने और बिना मास्क लगाए वार्ड में चिकित्सक का वीडियो वायरल कर दिया। इस बीच चिकित्सक ने कोतवाली ने कई बार फोन किया, लेकिन पुलिस का फोन नहीं उठा। सीएमएस डा. छोटेलाल ने कहा कि लड़की शहर के ही एक प्राइवेट चिकित्सक के यहां भर्ती थी। पीआइसीयू में भर्ती करने के दस मिनट बाद ही उसकी मौत हो गई। मरीज गंभीर होते हैं तो चिकित्सक व कर्मचारी थोड़ा तनाव में रहते हैं। कोई ऐसा मामला नहीं है। चिकित्सक बच्ची की जान बचाने में लगे थे, इस बीच मामला बिगड़ गया।

Posted By: Jagran