देवरिया: सदर कोतवाली के सोनूघाट चौराहे पर भूमि विवाद में कुछ लोगों ने एक युवक की पिटाई कर दी। इस मामले में पुलिस ने एक नामजद व चार अज्ञात के खिलाफ दलित अधिनियम का मुकदमा दर्ज किया है। अब आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है।

बरियारपुर थाना क्षेत्र के सुकरौली के रहने वाले हरिवंश प्रसाद का गांव के उज्जवल प्रताप सिंह से भूमि को लेकर विवाद चल रहा है। मंगलवार की शाम सोनूघाट चौराहे पर उज्जवल प्रताप सिंह व चार अज्ञात लोगों ने हरिवंश को पकड़ लिया और पिटाई की। जाते-जाते जातिसूचक शब्द का प्रयोग किया। इस मामले में पुलिस ने उज्ज्वल प्रताप सिंह व चार अज्ञात के खिलाफ मारपीट, बलवा व दलित अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। सीओ सिटी श्रीयश त्रिपाठी ने कहा कि मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है। जल्द ही आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सच्चिदानंद मिश्र हत्याकांड की जांच सीबीसीआइडी के हवाले

देवरिया: सदर कोतवाली के पिपरपाती के रहने वाले सच्चिदानंद मिश्र हत्याकांड की जांच अब सीबीसीआइडी कर रही है। सीबीसीआइडी ने जिले में तैनात दो इंस्पेक्टरों को बयान दर्ज कराने के लिए नोटिस भेजा है। जल्द ही सीबीसीआइडी की टीम जिले में पूछताछ करने के लिए आ सकती है।

पिपरपाती के रहने वाले सच्चिदानंद मिश्र प्रापर्टी डीलर का कार्य करते थे। अप्रैल 2019 में रात को खुखुंदू के डेहरी गांव के समीप अचेतावस्था में मिले और उन्हें अस्पताल पहुंचाया गया, जहां चिकित्सक ने मृत घोषित कर दिया। इस मामले में सदर कोतवाली पुलिस ने मृतक के पुत्र गणेश की तहरीर पर जितेंद्र राय व कृष्णा राय के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज दर्ज किया। वर्ष 2020 में आरोपितों को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया। अब मामले की जांच सीबीसीआइडी को सौंप दिया गया है। सीबीसीआइडी के विवेचक ने सदर कोतवाल रहे दो इंस्पेक्टर प्रभारी निरीक्षक बरहज टीजे सिंह व प्रभारी निरीक्षक भाटपाररानी सीबी सिंह को बयान दर्ज कराने के लिए कहा है। पुलिस अधीक्षक डा.श्रीपति मिश्र ने कहा कि मुकदमे की जांच सीबीसीआइडी के गोरखपुर शाखा द्वारा किया जा रहा है।

Edited By: Jagran