देवरिया: नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के एक दिन पहले गुरुवार की रात में अराजकतत्वों ने शहर में दो जगहों पर नेताजी के प्रतिमा स्थल को क्षतिग्रस्त कर दिया। इसकी भनक लगने के बाद लोगों में आक्रोश बढ़ गया है। शुक्रवार को नेताजी तिराहे पर आजाद हिद सेना के कार्यकर्ताओं ने धरना दिया और अराजकतत्वों पर कार्रवाई की मांग की। मौके पर पहुंचे एसडीएम सदर सौरभ सिंह, सीओ सिटी निष्ठा उपाध्याय व अधिशासी अधिकारी रोहित सिंह ने कार्रवाई का आश्वासन देकर धरना समाप्त कराया।

शहर के सुभाष चौक पर सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा स्थल टूटा देख लोग आक्रोशित हो गए और पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाने लगे। इस बीच किसी ने बताया कि नेताजी तिराहा पर भी प्रतिमा स्थल तोड़ दिया गया है और पिलर भी चुरा लिया गया है। इसके बाद आजाद हिद सेना के संस्थापक ऋषि कुमार पांडेय के नेतृत्व में कार्यकर्ता आंदोलित हो गए और धरने पर बैठ गए। ऋषि पांडेय ने कहा कि पहले भी यहां इस तरह की वारदात हुई थी। शिकायत करने के बाद भी कार्रवाई नहीं की गई। एक बार फिर जयंती के पहले दोनों जगहों पर प्रतिमा स्थल पर तोड़फोड़ कर सेनानी को अपमानित किया गया है। ऐसे अराजक तत्वों के खिलाफ कठोर कार्रवाई होनी चाहिए। इस दौरान आत्मदेव मणि, अभिषेक चौरसिया, अशोक मालवीय, पप्पू सिंह, गुरुशरण पांडेय, विनोद शाह, इम्तियाज सिद्दीकी, एखलाक सिद्दीकी, आकाश वर्मा, रामभरोसा प्रजापति मौजूद रहे। महापुरुषों के प्रतिमा स्थल पर सुरक्षा नहीं

सुभाष चौक पर चौबीस घंटे पुलिस कर्मियों की तैनाती है, इसके बाद भी रात को चबूतरा क्षतिग्रस्त हो जाना पुलिस के लिए एक चुनौती है। चबूतरा टूटने के बाद भी पुलिस वेखबर रही। इसी तरह कसया रोड स्थित ओवरब्रिज के नीचे नेताजी तिराहे पर भी पुलिस का पिकेट है। वहां चबूतरा तोड़ने के साथ ही अराजक तत्व पिलर भी उठा ले गए। पुलिस की इस कार्यशैली पर सवाल खड़ा हो गया है। महापुरुषों के सम्मान के साथ किसी स्तर पर खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। दो स्थानों पर एक ही रात में प्रतिमा स्थल को क्षतिग्रस्त करने के मामले की छानबीन की जा रही है। उन स्थानों को किसकी तैनाती थी, उन पुलिस कर्मियों से जवाब- तलब किया जाएगा।

डा.श्रीपति मिश्र, पुलिस अधीक्षक

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप