जागरण संवाददाता, देवरिया: जिले में कोरोना संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। लोगों ने यात्राएं कम कर दी हैं। इसके कारण उसकी आमदनी धड़ाम हो गई है। लगभग 10 लाख रुपये से अधिक का हर दिन रोडवेज को नुकसान हो रहा है।

देवरिया डिपो में 122 अनुबंधित व 71 निगम की बसें है। डिपो का खर्च प्रत्येक दिन सात से आठ लाख रुपये है। अप्रैल में डिपो की आमदनी 17 से 18 लाख रुपये प्रत्येक दिन होती रही है। कोरोना महामारी में बंदी का असर यह है कि हर दिन यहां छह से सात लाख रुपये की आमदनी हो रही है। संक्रमण के चलते लोग बसों में यात्रा करने की बजाय अपने वाहनों से ही यात्रा कर रहे हैं।

----

टिकट बिकने से ज्यादा, वापस करने आ रहे लोग

परिवहन निगम पर ही कोरोना संक्रमण का असर केवल नहीं है, रेलवे पर भी इसका असर दिख रहा है। दिल्ली, मुंबई, गुजरात जाने वाली ट्रेनों में बमुश्किल 10 फीसद लोग यात्रा कर रहे हैं। पहले से टिकट कराए हुए लोग इन दिनों वापस करने के लिए काउंटर पर पहुंच रहे हैं। स्थिति यह है जितने टिकट बिक रहे हैं, उससे अधिक लोग वापस करने आ रहे हैं। इससे रेल कर्मियों के सामने पैसा वापस करने को लेकर समस्या हो गई है। इसे लेकर कर्मचारियों की यात्रियों से कहासुनी भी हो रही है।

--

50 फीसद बसें सवारी के अभाव में रोडवेज में खड़ी है। यहीं नहीं, जो बसें चल रही हैं, उनमें भी आय नहीं हो पा रही है। संक्रमण कम होने के बाद ही स्थिति सामान्य होने की उम्मीद है।

ओम कुमार मिश्र

एआरएम

Edited By: Jagran